इंदौर- उज्जैन के बाद मध्य प्रदेश के इन जिलों में भी 19 अप्रैल तक टोटल लॉकडाउन

इंदौर शहर, राऊ नगर, महू नगर, शाजापुर शहर और उज्जैन शहर (एवं उज्जैन ज़िले के सभी नगरों) में 19 अप्रैल की सुबह 6 बजे तक लॉकडाउन निरंतर रहेगा।

कर्फ्यू
कर्फ्यू

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) में तेजी से फैलते कोरोना (Coronavirus) को देखते हुए इंदौर और उज्जैन के बाद बड़वानी, राजगढ़, विदिशा ज़िलों में (शहरी और ग्रामीण क्षेत्रों में ) 19 अप्रैल सुबह 6 बजे तक टोटल लॉकडाउन (Lockdown 2021) लगाया गया है। वही बालाघाट, नरसिंहपुर, सिवनी ज़िलों (शहरी और ग्रामीण क्षेत्रों) और जबलपुर शहर में 12 अप्रैल की रात से 22 अप्रेल की सुबह तक लॉकडाउन रहेगा।

यह भी पढ़े… बड़वानी में 19 अप्रैल तक लॉकडाउन, कमलनाथ की सीएम शिवराज से बड़ी मांग

दरअसल, मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान द्वारा ज़िला आपदा प्रबंध समितियों (District Crisis Management Committee)  के साथ आज 10 अप्रैल को हुई वीडियो कॉन्फ़्रेन्स में ज़िला आपदा प्रबंध समितियों से विस्तृत चर्चा के बाद यह फैसला लिया गया। इस फैसले के बाद सम्बंधित ज़िला कलेक्टर (Collector) और दंडाधिकारी ज़िला आपदा प्रबंधन समितियों की सहमति अनुसार धारा 144 CrPC में यथोचित विधिपूर्ण आदेश जारी करेंगे।

इंदौर शहर, राऊ नगर, महू नगर, शाजापुर शहर और उज्जैन शहर (एवं उज्जैन ज़िले के सभी नगरों) में 19 अप्रैल की सुबह 6 बजे तक लॉकडाउन निरंतर रहेगा।वही महाकाल मंदिर (Ujjain Mahakal Temple) के पुजारी की मौत के बाद सभी मंदिर बंद कर दिए गए है और  12 अप्रैल को सोमवती अमावस्या पर होने वाले स्नान पर भी रोक लगा दी गई है।साथ ही यह लॉकडाउन उज्जैन जिले के सभी ग्रामीण क्षेत्रों में भी लागू रहेगा ।

आंकड़ों ने फिर चौंकाया: 24 घंटे में 1.45 लाख कोरोना पॉजिटिव, 794 मौतें, क्या लगेगा लॉकडाउन?

बैठक में सीएम शिवराज सिंह चौहान (CM Shivraj Singh Chauhan) ने कहा कि हमें घबराना नहीं है, पैनिक नहीं होना है। आप स्वयं को संकट में डाल कर दूसरों की रक्षा कर रहें हैं। ऐसी स्थिति में काम करना अपने आप में एक चुनौती है, फिर भी आप अपना दायित्व पूरा कर रहें हैं इसके लिये आपका अभिनंदन है। समय पर उपचार मिले, जितना संभव हो तत्परता से हम इलाज उपलब्ध कराएं मरीजों को। यह ऐसी बीमारी है जहां मरीज को अकेले ही रहना होता है। ऐसे में मनोबल टूटता है, हम मरीजों का हौसला और मनोबल बनाकर रखना है।

डॉ. राजौरा ने बताया कि मुख्यमंत्री ने मध्य प्रदेश के जिलों के क्राइसिस मैनेजमेंट ग्रुप के साथ चर्चा के दौरान एक दिन में 5 हजार केस आने पर चिंता जताई। हालात को काबू में लाने के लिए ही लॉकडाउन का फैसला किया गया है। शनिवार शाम तक इसको लेकर आदेश जारी कर दिया जाएगा।

बता दे कि पिछले चौबीस घंटे में मध्य प्रदेश में 4986 नए केस मिले है और 24 की मौत हो गई, जिसके बाद एक्टिव केस का आंकड़ा 32 हजार के पार हो गया है। स्वास्थ्य विभाग की रिपोर्ट के मुताबिक 9 अप्रैल तक प्रदेश में एक्टिव केस 32,707 हो चुके थे। इस मामले में मध्य प्रदेश देश में 6वें नंबर पर पहुंच गया है।