किसानों और फसल खरीदी को लेकर कृषि मंत्री कमल पटेल का बड़ा बयान

कृषि मंत्री कमल पटेल

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट।  कोरोना वायरस (Coronavirus) और बारिश-ओलावृष्टि (RAIN-HAIL) के चलते मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) में 22 मार्च से होने वाली फसलों (Crops) की खरीदी को स्थगित कर दिया है, जिसके चलते किसानों (Farmers)  में निराशा है, ऐसे में आज कृषि मंत्री कमल पटेल  (Kamal Patel)  ने आज फेसबुक के माध्यम से किसानों से चर्चा की और कहा कि वे अपनी फसल समर्थन मूल्य (MSP) पर ही बेचें।

यह भी पढ़े.. MP Board: 10वीं और 12वीं के छात्रों के लिए एक और सुनहरा मौका, निर्देश जारी

आज लॉकडाउन (Lockdown) के बीच मप्र के कृषि मंत्री कमल पटेल ने रविवार को फेसबुक (Facebook) पर किसानों से संवाद करते हुए कहा कि मौसम (Weather) की स्थिति को देखते हुए चना, मसूर एवं सरसों की खरीदी की तिथि 22 मार्च से आगे बढ़ाने का निर्णय लिया है। उन्होंने किसानों से आग्रह किया कि वे अपनी फसल समर्थन मूल्य पर ही बेचें। मौसम में सुधार होते ही खरीदी प्रारंभ करेंगे।

कमल पटेल ने बताया कि बारिश एवं ओला प्रभावित क्षेत्रों में सर्वे का काम प्रारम्भ कर दिया गया है। उन्होंने किसानों से अपील की कि यदि उनकी फसल खराब हुई है और सर्वे अभी प्रारम्भ नही हुआ है, तो स्थानीय कृषि, राजस्व विभाग के अधिकारियों, तहसीलदार, एडीएम एवं जन-प्रतिनिधियों को खराब हुई फसलों की तत्काल सूचना दें। असुविधा होने पर कमल सुविधा केंद्र 0755-2558823 पर सूचना भी दे सकते हैं।

यह भी पढ़े.. 23 मार्च को प्रदेशवासियों को बड़ी सौगात देंगे शिवराज सिंह चौहान, तैयारी पूरी

वही कमल पटेल ने प्रदेश के किसान भाइयों को बधाई देते हुए कहा कि कोरोना काल में हमारे अन्नदाताओं ने बंपर पैदावार की, जिससे विगत वर्ष मध्यप्रदेश (MP) गेहूँ खरीदी में पंजाब को पीछे छोड़ते हुए नंबर-1 राज्य बना। इस वर्ष हमने 135 लाख मीट्रिक टन गेहूँ खरीदी का लक्ष्य रखा है।