किसानों के हित में कृषि मंत्री कमल पटेल का बड़ा बयान, शुरू किया अभियान

कमल पटेल ने कहा कि बिचौलिए किसानों को भ्रमित कर उन्हें आंदोलन के लिए उकसा रहे हैं।

कमल पटेल

हरदा, डेस्क रिपोर्ट। मध्यप्रदेश (madhya pradesh) में किसानों (farmers) के हित में बड़े बड़े फैसले लेने के बाद शिवराज सरकार (shivarj government) के कृषि मंत्री ने अब नए अभियान की शुरुआत की है। इसके साथ ही कृषि मंत्री कमल पटेल (kamal patel) ने किसानों से कहा कि वह बिचौलियों के भ्रम में न फंसे। दरअसल कृषि विकास एवं किसान कल्याण मंत्री कमल पटेल कृषि विधेयकों के लिए किसानों का समर्थन जुटाने के अभियान में जुट गए हैं। हरदा जिले के ग्राम भैंसादेह में किसानों की चौपाल को संबोधित करते हुए कमल पटेल ने कहा कि किसान जागरुक हों और कृषि विधेयकों को अपना समर्थन देकर कृषि के विकास में अपनी सहभागिता दें।

नये कृषि विधेयकों को लेकर जारी विरोध प्रदर्शनों के बीच कृषि मंत्री कमल पटेल समर्थन जुटाने के अभियान को किसानों के बीच ले गये हैं। अपने गृह जिले हरदा के साथ होशंगाबाद जिले के ग्राम भैंसादेह में किसानों की चौपाल आयोजित कर कमल पटेल ने विधेयकों से किसानों को लाभ मिलने पर सवाल किए। जिसका मौजूद किसानों ने समर्थन किया। मंत्री कमल पटेल ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी किसानों के कल्याण के लिए प्रभावी कदम उठा रहे हैं। जिससे बिचौलियों में हड़कंप मच गया है। कमल पटेल ने कहा कि बिचौलिए किसानों को भ्रमित कर उन्हें आंदोलन के लिए उकसा रहे हैं।

कमल पटेल ने किसानों से आव्हान करते हुए कहा कि किसान स्वयं चौपाल लगाकर विधेयकों पर चर्चा करें और दूसरे किसानों को भी समर्थन के लिए प्रेरित करें। उन्होंने कहा कि यदि अभी बिल वापस लेना पड़ा तो इसका नुकसान किसानों की भावी पीढियों को भी उठाना पड़ेगा। कृषि मंत्री कमल पटेल ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने छोटे किसानों को कृषि से जोड़े रखने के लिए किसान सम्मान निधि देना आरंभ किया है। इससे किसानों को आर्थिक मदद मिली है। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने इस सम्मान निधि में राज्य का अंश जोड़कर इसे बढ़ा दिया है।

Read More: MP News: बड़े आंदोलन की तैयारी में निजी स्कूल, चेतावनी, सीएम शिवराज से की ये प्रमुख मांग

कमल पटेल ने कहा कि आत्मनिर्भर भारत तभी बनेगा जब किसान आत्मनिर्भर होगा लेकिन बिचौलिए किसानों को मिलने वाले लाभांश में रोढ़े अटका रहे हैं। इसे किसानों को ही एकजुट होकर विफल करना होगा। कमल पटेल ने कांग्रेस पर निशाना साधते हुए कहा कि यह पार्टी भ्रष्टाचार की जननी है। उन्होंने राजीव गांधी के बयान का हवाला देते हुए कहा कि खुद राजीव गांधी को पता था कि एक रुपये में से 85 पैसे बिचौलिए हजम कर जाते हैं लेकिन फिर भी वह सुधार नहीं कर सके क्योंकि शुरुआत उन्हें घर से ही करना पड़ती। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने बैंक खाते खुलवा कर सीधे खातों में पैसा भेजना शुरू किया तो कमीशनखोरी और भ्रष्टाचार पर अंकुश लगा। जिसे विपक्षी दल बर्दाश्त नहीं कर पा रहे।

कृषि मंत्री कमल पटेल ने किसानों से कृषि बिलों के समर्थन में आगे आकर अपनी आवाज उठाने की अपील की है। जिससे प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी दृढ़ता के साथ कृषि विधेयकों को लागू कर सकें। चौपाल में मौजूद किसानों ने कृषि विधेयकों को किसानों के लिए हितकारी बताते हुए कहा कि वह पूरी तरह बिलों का समर्थन करते हैं और इन्हें लागू करने के लिए सरकार के साथ हैं।