कांग्रेस के बंधक विधायकों को लेकर हुआ बड़ा खुलासा

भोपाल. सियासी घमासान के बीच प्रदेश के बन्धक बने विधायकों को वापस लाया गया है। जिसके बाद प्रदेश के वित्त मंत्री तरुण भनोत(Tarun bhanot), मंत्री जीतू पटवारी(jitu patwari) और जयवर्धन सिंह(jayvardhan singh) द्वारा उन विधायकों को सीएम हाउस लाया गया। जहां मुख्यमंत्री कमलनाथ(kamalnath) सहित कानून मंत्री पीसी शर्मा(P.C.sharma) एवम् मंत्री सुरेंद्र सिंह बघेल ने उनसे मुलाकात की।

पीसी शर्मा का बयान

इस मुद्दे पर बोलते हुए पीसी शर्मा ने कहा कि हमारे विधायकों को जबरन बंधक बनाया गया है। जल्दी बीजेपी पर कार्रवाई की जाएगी। साथ ही उन्होंने यह भी कहा कि हमारे विधायक षड्यंत्र में आकर चले गए थे लेकिन वह कांग्रेस छोड़कर कहीं नहीं जाएंगे। सभी विधायक तफरीह के लिए गए थे और लौटकर वापस आ गए हैं।

मिसिंग विधायकों के बारे में पूछने पर सुरेंद्र सिंह बघेल ने बताया कि कोई कहीं नहीं गया है, सभी विधायक जल्द वापस आएंगे। हमारी सरकार पांच नहीं है बल्कि 10 साल तक चलने वाली सरकार है। जनता भलीभांति बीजेपी की राजनीति को समझ रही है। बीजेपी का असली चेहरा सबके सामने आ चुका है।

विधायक हमारे साथ – पीसी शर्मा

विधायकों के विचार पर पीसी शर्मा ने बताया कि हमारे विधायकों को वापस लाने में जीतू पटवारी, जयवर्धन सिंह और तरुण भनोत की भूमिका सर्वाधिक रही है। सारे विधायक सीएम कमलनाथ के साथ हैं और कांग्रेस के साथ ही रहना चाहते हैं। जैसा कि आपको मालूम है इन 6 विधायकों में बसपा के दो और कांग्रेस के चार विधायक शामिल हैं।

बीजेपी ने किया आरोप को खारिज

गौरतलब है कि कांग्रेस ने आरोप लगाया था कि बीजेपी की तरफ से उनके कुछ विधायकों को बंधक बनाया गया है। जिसकी कुछ वायरल वीडियो में पुष्टि भी हुई थी किन्तु बीजेपी के नेता इस बात को बार बार नकार रहे है। उन्होंने इसे कांग्रेस का आंतरिक कलह बताया है। बीजेपी नेताओं का कहना है कि सारे आरोप बेबुनियाद है। कांग्रेस टुकड़ों में बंट चुकी है