Bribe: लोकायुक्त के शिकंजे में फंसा पटवारी, रिश्वत लेते रंगे हाथ गिरफ्तार

उज्जैन, योगेश कुल्मी 

एमपी में कोरोना संकटकाल के बीच रिश्वत का खेल जारी है। आज शुक्रवार को उज्जैन जिले में लोकायुक्त पुलिस ने बड़ी कार्रवाई की है। टीम ने एक पटवारी को पांच हजार रुपये की रिश्वत लेते हुए रंगे हाथो गिरफ्तार किया है।आरोप है कि जमीन की पावती बनाने के लिए पटवारी ने रिश्वत मांगी थी। पटवारी के खिलाफ पुलिस ने भ्रष्टाचार अधिनियम के तहत मामला दर्ज किया है। टीम को पता चला है कि पटवारी ने हाल ही में पावापुरी में नया बंगला भी बनाया है। उसकी भी जांच की जाएगी।

मिली जानकारी के अनुसार, मामला उज्जैन जिले के लिंबा पिपलिया गांव का है। आरोप है कि पटवारी दुष्यंत वर्मा ने जमीन की पावती बनाने के नाम पर एक किसान से पांच हजार की रिश्वत की मांग की थी। पटवारी ने किसान भूपेन्द्र चौधरी से कहा था कि वह गांव आकर रुपए लेगा और काम करेगा। किसान ने पटवारी को 1200 रुपये दे दिये और बाकी रुपये काम के बाद देना तय हुआ। इसकी सूचना किसान ने लोकायुक्त की टीम को दी थी, जिसके बाद टीम ने योजना बनाकर किसान को पटवारी के पास भेजा, जैसे ही पटवारी ने रिश्वत के लिए हाथ आगे बढया टीम ने धर दबोचा। उसके पास रुपए बरामद कर हाथ धुलवाये तो पानी का रंग गुलाबी हो गया। लोकायुक्त के संतोष जामरा और राजेन्द्र वर्मा ने बताया कि पटवारी के खिलाफ भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम के तहत कार्रवाई की जा रही है।