Cabinet Meeting: शिवराज कैबिनेट बैठक संपन्न, इन प्रस्तावों पर लगी मुहर

भोपाल।

मध्य प्रदेश(Madhya Pradesh) में आज मुख्यमंत्री शिवराज की अध्यक्षता में(Chief Minister Shivraj headed) कैबिनेट की बैठक(Cabinet meeting) संपन्न हुई। जिसमें कई अहम मुद्दों पर चर्चा की गई। वहीं कई प्रस्ताव को मंजूरी भी दी गई। बैठक की ब्रीफिंग(Briefing) करते हुए नरोत्तम मिश्रा(Narottam Mishra) ने बताया कि आज की बैठक में औपचारिक और अनौपचारिक दोनों ही महत्वपूर्ण निर्णय हुए। जहां नरोत्तम मिश्रा ने बताया कि अभी तक स्वतंत्रता दिवस का समारोह सभी जिला स्थानों पर, तहसील स्थानों पर जनप्रतिनिधियों द्वारा संपन्न किया जाता था। लेकिन कोरोना के व्यापक संक्रमण(Extensive infection of corona) को ध्यान में रखते हुए कैबिनेट ने यह निर्णय लिया है कि स्वतंत्रता दिवस का समारोह सिर्फ भोपाल(bhopal) में एक जगह मंत्रिपरिषद के साथ मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान द्वारा संपन्न किया जाएगा। सार्वजनिक समारोह एवं प्रशासनिक गतिविधियां भी इस साल संपादित नहीं होगी।

दरअसल कैबिनेट की ब्रीफिंग करते हुए नरोत्तम मिश्रा ने बताया कि प्रदेश में असामाजिक तत्वों के खिलाफ तेजी से कार्यवाही की जा रही है। उज्जैन के आबकारी सब इंस्पेक्टर के दुष्कर्म मामले में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने उसे तत्काल सेवा से बर्खास्त कर दिया है। वहीं उन्होंने कहा है कि प्रदेश में इस तरह की कोई भी घिनौने कृत्य बर्दाश्त नहीं किए जाएंगे।

प्रवासी मजदूरों के लिए होगा आयोग का गठन

प्रवासी मजदूरों के कल्याण पर चर्चा करते हुए नरोत्तम मिश्रा ने बताया कि देश से दो कदम आगे बढ़कर मध्यप्रदेश ने अपनी सीमा से गुजरने वाले हर प्रवासी मजदूरों कि देखरेख का खासा ध्यान रखा था। जिसके बाद अब प्रवासी मजदूरों के सृजन के लिए मध्यप्रदेश में एक आयोग का गठन किया जाएगा जिसमें एक अध्यक्ष के अलावा दो 2 सदस्य रहेंगे। वहीं सफाई कर्मचारियों को भी अंत्योदय योजना का लाभ देते हुए उनका बीमा करवाया जाएगा। अभी तक जहां उन्हें सामान्य मृत्यु पर 50000 रुपए का लाभ मिलता था उसे बढ़ाकर 1 लाख किया गया है जबकि एक्सीडेंट से हुई मृत्यु पर बीमा राशि को एक लाख से बढ़ाकर 2 लाख किया गया है।

पहली प्राथमिकता आत्मनिर्भर मध्यप्रदेश

आत्मनिर्भर भारत के पथ पर आत्मनिर्भर मध्य प्रदेश की चर्चा करते हुए गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने कहा कि मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने साफ कहा है कि उनकी पहली प्राथमिकता आत्मनिर्भर मध्य प्रदेश होगी। और इसके लिए 15 अगस्त के बाद से आत्मनिर्भर मध्य प्रदेश की झलक प्रतिबिंबित होनी चाहिए।

किसानों को लेकर बड़ा फैसला

वहीं दूसरी तरफ कैबिनेट की बैठक में प्रदेश के किसानों के लिए कुछ महत्वपूर्ण फैसले भी लिए गए हैं। जिस पर चर्चा करते हुए नरोत्तम मिश्रा ने कहा कि प्रदेश में कई ऐसे घर हैं उनके पास न तो रजिस्ट्री है ना लेखा-जोखा है।जिसके बाद आज कैबिनेट बैठक में यह मंजूर किया गया कि गांव के मकान का स्वामित्व गांव का ही किसान बनाया जाएगा। जिसके बाद अब गांव का हर किसान अपने घर का मालिक स्वयं बन सकेगा। उसे लोन लेने का भी अधिकार रहेगा।

कोरोना योद्धाओं को मिलेगी ये सहायता

वही कोरोना के बढ़ते संक्रमण के बीच कोविड योद्धा के लिए भी राज्य सरकार ने बड़ा फैसला लिया है। केंद्र के जीवन बीमा के बावजूद राज्य सरकार ने कोरोना योद्धा जो किसी प्रशासनिक पद पर रहते हुए संक्रमण की चपेट में आते हैं और उनकी मृत्यु हो जाती है। ऐसे योद्धाओं को 50000 रूपए राज्य सरकार तत्काल प्रभाव से उपलब्ध करवाते हैं। अब तक प्रदेश में 20 कोरोना योद्धाओं को यह सुविधा दी जा चुकी है। आज की कैबिनेट बैठक में इस योजना को और आगे विस्तारित करने पर भी सहमति बनी है।

आज से मंत्रियों के साथ वन टू वन चर्चा

इधर बैठक पर विशेष चर्चा करते हुए गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने बताया कि मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने आज मंत्रियों से कहा कि बिंदुवार विषय पर चर्चा करने के लिए यह आज की पहली बैठक है। और इसी के साथ मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान आज से मंत्रियों के साथ वन टू वन चर्चा भी करेंगे। जहां उनके प्रभार के विभाग एवं जिलों के बारे में भी चर्चा होगी। मुख्यमंत्री चौहान ने सभी मंत्रियों को सख्त हिदायत भी दी है कि विभाग के फैसलों पर तीखी नजर रखें। वही मंत्री अपने-अपने संबंधित विभागों का प्लान भी तैयार करें। जहां मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान विभाग के मंत्रियों के साथ इस पर हर माह चर्चा भी करेंगे।