दूसरे चरण की कर्जमाफी के लिए CM ने बुलाई बैठक, 1 लाख तक होगा किसानों का कर्जा माफ

भोपाल।मध्यप्रदेश में कर्जमाफी के दूसरे चरण की प्रक्रिया जल्द शुरु होने वाली है। आज मुख्यमंत्री कमलनाथ कृषि के साथ संबंधित विभागों के अधिकारियों के साथ इसकी समीक्षा करेंगे। बैठक में कर्जमाफी के दूसरे चरण के कार्यक्रमों की रूपरेखा तैयार की जाएगी। मुख्यमंत्री यह तय करेंगे कि दूसरे चरण में जिला वार होने वाले कार्यक्रमों की रूपरेखा क्या होगी।

दरअसल, कर्ज माफी का दूसरा चरण मध्यप्रदेश सरकार के एक साल पूरे होने पर 17 दिसंबर से शुरू होने वाला था, लेकिन केंद्र सरकार से मिलने वाले फंड के आभाव में योजना शुरू नहीं हो पाई है। सरकार ने कर्ज माफी के पहले चरण में किसानों का 50 हजार रुपए तक का कर्ज माफ किया था। पहले चरण में कर्जमाफी का लाभ प्रदेश के 21 लाख किसानों को मिल चुका है। अब दूसरे चरण की तैयारी है। कर्जमाफी के दूसरे चरण में सरकार ने किसानों का 50 हजार से एक लाख रुपए तक का कर्ज माफ करने का लक्ष्य बनाया है।

31 जनवरी तक भर सकेंगे फॉर्म
जय किसान फसल ऋण माफी योजना में जो किसान पहले शामिल नहीं हो पाए वे किसान 31 जनवरी क कर्जमाफी का आवेदन कर सकते हैं। आवेदकों को गुलाबी रंग का फार्म (पिंक फार्म) भरना होगा। इसका परीक्षण जिला स्तरीय समिति करेगी। इसके बाद कर्जमाफी का लाभ देने का नीतिगत निर्णय लिया जाएगा।जय किसान फसल ऋण माफी योजना के अंतर्गत उन किसानों की कर्जमाफी का लाभ दिया गया था, जिन पर 31 मार्च 2018 की स्थिति में सहकारी बैंक, क्षेत्रीय ग्रामीण बैंक, राष्ट्रीकृत बैंक का 02 लाख रुपए तक का कर्ज है। उक्त योजना के तहत बीते साल किसानों से आवेदन लिए गए।