VC: किसानों को लेकर CM शिवराज सिंह के कड़े निर्देश, लापरवाह कर्मचारियों पर होगी FIR

मुख्यमंत्री ने साफ निर्देश दिए हैं कि फसल खरीदने के बाद सभी किसानों को 100% भुगतान सुनिश्चित किया जाना चाहिए।एक भी किसान वंचित अगर रहा तो यह गलत होगा

सीएम शिवराज सिंह चौहान
cabinet meeting

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (Shivraj Singh Chauhan)  ने आज सुबह 10 मार्च को एक बार फिर राजधानी भोपाल में मध्य प्रदेश के सभी कलेक्टर (Collector), कमिश्नर, आईजी, डीआईजी (IG-DIG) और पुलिस अधीक्षकों एक वीडियो-कॉन्फ्रेंसिंग (video conferencing) बुलाई थी और इसमें किसानों को लेकर कड़े निर्देश दिए गए वही भुगतान न करने वाले सहकारी समिति के कर्मचारियों पर एफआईआर और कुर्की के निर्देश दिए।

यह भी पढ़े.. शिवराज सिंह चौहान की नई घोषणा- मप्र में जल्द होगा इस बोर्ड का गठन

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने किसानों को लेकर बड़े निर्देश दिए हैं।बुधवार को कलेक्टर कमिश्नर कॉन्फ्रेंस में अधिकारियों को संबोधित करते हुए शिवराज सिंह ने कहा कि पिछले साल उपार्जन कार्य के दौरान जिन संस्थाओं, समितियों द्वारा गंभीर अनियमितताएं की गई है उनको ब्लैक लिस्ट कर दिया जाए।इसके साथ ही पूर्व के वर्षों में जिन कृषकों को उपार्जन के बाद भी भुगतान नहीं किया गया है उनका भुगतान कर दोषियों पर प्रकरण दर्ज कराया जाए।संबंधित समिति के कर्मचारियों के निवास स्थान से उनकी संपत्ति की जानकारी प्राप्त कर उनके विरुद्ध वसूली और कुर्की की कार्रवाई कर राशि प्राप्त करने की कार्रवाई सुनिश्चित करने के निर्देश शिवराज ने दिये।

मुख्यमंत्री ने धान ज्वार और बाजरा उपार्जन को लेकर विशेष निर्देश दिए हैं।उन्होंने कहा है कि रबी उपार्जन 2021-22 में पंजीकृत किसानो को निर्धारित समय में पंजीकृत करवा कर उसकी रिपोर्ट दी जाए।इसके साथ ही रबी उपार्जन में समिति, स्व सहायता समूह तथा एफ सीआई, के साथ-साथ बड़े-बड़े गोदाम मालिकों के द्वारा भी किसानों से सीधा उपार्जन करने की व्यवस्था की जाए।

यह भी पढ़े.. शिवराज सिंह चौहान की नई घोषणा- मप्र में जल्द होगा इस बोर्ड का गठन

मुख्यमंत्री ने साफ निर्देश दिए हैं कि फसल खरीदने के बाद सभी किसानों को 100% भुगतान सुनिश्चित किया जाना चाहिए।एक भी किसान वंचित अगर रहा तो यह गलत होगा।मुख्यमंत्री ने अधिकारियों से कहा कि वे उपार्जन में अवैध परिवहन की शिकायतें मिलने पर सख्त कार्रवाई करें।निजी गोदामों की जो सूची भेजी जा रही है उसे कलेक्टर परीक्षण करने के बाद ही मान्यता दें।अच्छे धान उपार्जन को लेकर मुख्यमंत्री ने फैज अहमद किदवई सहित सभी अधिकारियों को बधाई दी।

इसके पहले मुख्यमंत्री ने अधिकारियों को इंदौर का उदाहरण देते हुए माफिया के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करने की बात कही।उन्होंने कहा कि आपको दुर्लभ सौभाग्य मिला है कि जमीन पर आप काम कर रहे हैं और मुख्यमंत्री के प्रतिनिधि हैं।मुख्यमंत्री के साथ इस कॉन्फ्रेंस में सीएस म,डीजीपी,प्रमुख सचिव मुख्यमंत्री,प्रमुख सचिव जनसंपर्क,एडीजी इंटेलीजेंस, ओएसडी मुख्यमंत्री उपस्थित है।।

बैठक से पहले पत्रकारों से चर्चा के दौरान सीएम ने कहा कि महीने में एक बार कमिश्नर, आईजी, कलेक्टर, एसपी की कॉन्फ्रेंस करता हूं। 29 दिन काम के लिये और 1 दिन मूल्यांकन के लिये। हम टास्क देते हैं और हिसाब लेते हैं। ये सुशासन का एक माध्यम और उपकरण है।आगामी निकाय चुनावों   (Urban Body Election 2021) को देखते हुए यह बैठक महत्वपूर्ण मानी जा रही है, क्योंकि कभी भी तारीखों और आचार संहिता (Code of conduct) का ऐलान हो सकता है।

यह भी पढ़े.. MP College: स्वरोजगार और सरकारी नौकरियों को लेकर शिवराज सिंह चौहान का बड़ा ऐलान

बता दे कि गत तीन माह से मासिक समीक्षा का क्रम प्रारंभ किया है। कॉन्फ्रेंस में कानून व्यवस्था और विकास की स्थिति की विस्तारपूर्वक समीक्षा की जाती है।  इतना ही नहीं सरकारी योजनाओं को लेकर परफार्मेंस के आधार पर टॉप-5 और 5 फिसड्‌डी जिलों की ग्रेडिंग की जाती है।  पिछली दो बैठकों में 6 IAS-IPS अफसरों पर गाज गिर चुकी है। इसके पहले 8 फरवरी को हुई बैठक में लापरवाही के चलते बैतूल (Betul Collector) व गुना कलेक्टर (Guna Collector) और नीमच व निवाड़ी एसपी को हटाया गया था।

https://www.youtube.com/watch?v=tPvNwv4Y46U