सीएम का एक्शन, सीएमओ को सस्पेंड करने के निर्देश, प्राचार्य और पुलिसकर्मियों पर भी गिरी गाज

सीएम शिवराज ने कहा है कि प्रदेश में सुशासन के लिए जनता को शासकीय योजनाओं का समय पर लाभ दिया जाना सुनिश्चित किया जाए। यदि उन्हें इनका लाभ मिलने में विलंब होता है तो विलंब के लिए जिम्मेदार शासकीय अधिकारी/कर्मचारियों के विरूद्ध कार्रवाई की जाएगी।

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट| नए साल में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (Shivraj Singh Chauhan) सख्त अंदाज में नजर आ रहे हैं| समाधान ऑनलाइन की बैठक में मुख्यमंत्री ने जनता के काम में लापरवाही बरतने वालों कर्मचारियों अधिकारियों पर कड़ी कार्रवाई के निर्देश दिए हैं| अलग अलग मामले में एक सीएमओ, लिपिक, प्राचार्य और पुलिस अधिकारियों को निलंबित (Suspend) करने के निर्देश दिए|

सीएम शिवराज ने कहा है कि प्रदेश में सुशासन के लिए जनता को शासकीय योजनाओं का समय पर लाभ दिया जाना सुनिश्चित किया जाए। यदि उन्हें इनका लाभ मिलने में विलंब होता है तो विलंब के लिए जिम्मेदार शासकीय अधिकारी/कर्मचारियों के विरूद्ध कार्रवाई की जाएगी। उन्होंने निर्देश दिए कि विभिन्न छात्रवृत्ति योजनाओं के अंतर्गत विद्यार्थियों को ऑनलाइन राशि समय पर अंतरित किए जाना सुनिश्चित किया जाए। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि प्रदेश में सी.एम. हेल्पलाइन 181 के अंतर्गत मोबाइल के माध्यम से स्थानीय निवासी एवं जाति प्रमाण-पत्र एक ही दिन में दिए जाने की सुविधा प्रदान करने वाला म.प्र. देश का पहला राज्य है। सी.एम. हैल्पलाइन में नागरिक अब अपनी शिकायतें व्हॉटसएप नंबर 7552555582 पर भी दर्ज करवा सकते हैं।

सी.एम.ओ. और लिपिक को निलंबित करें
मुख्यमंत्री श्री चौहान ने शिवपुरी जिले के एक प्रकरण में शासकीय योजना की किश्त देने में हितग्राही (दामोदर प्रसाद) को विलंब किए जाने की शिकायत पर तत्कालीन सी.एम.ओ. और लिपिक को तत्काल प्रभाव से निलंबित करने के निर्देश दिए।

दोषी पुलिस अधिकारियों को निलंबित करें
मुख्यमंत्री श्री चौहान को मंडला जिले के आवेदक देवेन्द्र ने बताया कि उसकी बहन 2018 से लापता है। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने प्रकरण को अत्यंत गंभीरता से लेते हुए तुरंत उसे ढूंढने की कार्रवाई करने तथा दोषी पुलिस अधिकारियों को निलंबित करने के निर्देश दिए।

फसल बीमा की राशि सभी किसानों को मिले
मुख्यमंत्री श्री चौहान को शाजापुर जिले के आवेदक मनोज राजपूत ने बताया कि उसे फसल बीमा की राशि नहीं मिली है। इस पर मुख्यमंत्री श्री चौहान ने निर्देश दिए कि फसल बीमा योजना का लाभ हर प्रभावित किसान को दिलाना सुनिश्चित किया जाए।

छात्रवृत्ति की राशि नहीं मिली, प्राचार्य को निलंबित करें
मुख्यमंत्री श्री चौहान को दतिया की कुमारी श्रद्धा पिता राधेश्याम ने बताया कि उसे ‘गांव की बेटी योजना’ के अंतर्गत प्रथम व द्वितीय वर्ष की छात्रवृत्ति की राशि नहीं मिली है। इस पर मुख्यमंत्री श्री चौहान ने निर्देश दिए कि कार्य में लापरवाही करने पर महाविद्यालय के प्राचार्य के निलंबन की कार्रवाई करें।

पट्टा देने के लिए प्रशासन को बधाई
बड़वानी जिले के आवेदक श्री बद्री ने मुख्यमंत्री को बताया कि जिला प्रशासन ने तत्परता से कार्रवाई करते हुए उसे जमीन का पट्टा दिलवाया है। मुख्यमंत्री ने आवेदक की समस्या समझने तथा त्वरित कार्रवाई कर उसे पट्टा देने के लिए जिला प्रशासन को बधाई दी।

सहायता में न हो विलंब
मुख्यमंत्री श्री चौहान को रायसेन जिले के जय सिंह बंजारा ने बताया कि बेटे की मृत्यु के उपरांत उन्हें सहायता मिलने में बहुत विलंब हुआ। अब उन्हें सहायता मिल गई है। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कार्य में विलंब के लिए संबंधित पंचायत सचिव को निलंबित करने के निर्देश दिए।

समय पर मिले जमीन का मुआवजा
मुख्यमंत्री श्री चौहान को रीवा जिले के किसान श्री भगवत सिंह ने बताया कि उन्हें बाणसागर परियोजना में भूमि अधिग्रहण का मुआवजा मिलने में देरी हुई है। कलेक्टर ने बताया कि लंबित सभी प्रकरणों का निराकरण करते हुए 194 किसानों को मुआवजा दिला दिया गया है। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने विलंब के संबंध में संबंधित एस.डी.एम. से कारण पूछे जाने के निर्देश दिए।

पूरी राशि एक साथ दी जाए
इंदौर जिले में बैंक ऑफ इंडिया की एक शाखा द्वारा स्ट्रीट वेण्डर योजना के अंतर्गत 10 हजार के स्थान पर 05-05 हजार रूपए दिए जाने की शिकायत पर संबंधित बैंक मैनेजर ने बताया कि दस्तावेजों के पूरे न होने के कारण दो किश्तों में राशि दी जा रही है। इस पर मुख्यमंत्री श्री चौहान ने निर्देश दिए कि योजना के अंतर्गत पूरी राशि 10 हजार रूपए एक साथ प्रदाय की जाए।

उच्च प्रदर्शन वाले जिलों की सराहना की
मुख्यमंत्री श्री चौहान ने सी.एम. हेल्पलाइन में समस्याओं के निराकरण में अच्छा प्रदर्शन करने वाले जिले सिवनी, सिंगरौली, छिंदवाड़ा, छतरपुर, देवास, बुरहानपुर, होशंगाबाद, डिण्डौरी, झाबुआ तथा रतलाम की सराहना करते हुए कलेक्टर्स को बधाई दी। वहीं खराब प्रदर्शन वाले जिलों रायसेन, मुरैना, भिण्ड, इंदौर, शिवपुरी, शाजापुर, खरगौन, बड़वानी, धार तथा आगर-मालवा को कार्य सुधारने के निर्देश दिए गए।