ध्वस्त हुए रिकॉर्ड, बीते 24 घंटे में मिले 3722 नए केस, बोले सीएम शिवराज- गंभीर संकट का महीना

सीएम शिवराज (CM Shivraj) ने कहा था कि संक्रमण को रोकने का उपाय है–लॉकडाउन! लेकिन यह लोगों से उनके रोजगार छीन लेगा।

corona

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। मध्य प्रदेश (madhya pradesh) में कोरोना (corona) की लहर भयानक हो चली है। लगातार संक्रमण के बड़े मामले सामने आ रहे हैं। वहीँ पिछले 24 घंटे में 3722 नए केस दर्ज किए गए हैं। इसके साथ ही 18 लोगों की मौत भी हो गई है। कोरोना के बढ़ते संक्रमण को देखते हुए आज मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (shivraj singh chauhan) स्वास्थ्य आग्रह पर बैठे हैं।

दरअसल मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान दोपहर 12:00 से मिंटो हॉल (minto hall) में गांधी प्रतिमा के नीचे 24 घंटे का स्वास्थ्य आग्रह करने बैठे हैं। इस दौरान सीएम शिवराज ने कहा कि प्रदेश में कोरोना का संक्रमण बढ़ता जा रहा है। अप्रैल का महीना गंभीर संकट का महीना साबित होने वाला है। वही हमें कोरोना के प्रति अपनी जिम्मेदारी को समझना होगा। मुख्यमंत्री के तौर पर यह मेरा अभियान राजनीतिक नहीं बल्कि सामाजिक है।

इसके साथ ही सीएम शिवराज ने हर वर्ग से सहयोग की अपील की है। वहीं उन्होंने लोगों से मास्क (mask) और फिजिकल डिस्टेंसिंग (physical Distancing) का पालन करने का अनुरोध किया है। बता दे कि मंगलवार को प्रदेश में 3722 नए मामले सामने आए हैं। वही जल्द ही ये आंकड़े 4000 तक पहुंच सकता है। बड़ी संख्या में लोगों की रिपोर्ट पॉजिटिव आ रही है। वही पॉजिटिविटी रेट (positivity rate) की बात करें तो प्रदेश में यह आंकड़ा 11.11% पहुंच गया है।

Read More: लापरवाही पर एक्शन, कलेक्टर ने उपयंत्री–पंचायत सचिव को किया तत्काल प्रभाव से निलंबित

इसके साथ ही प्रदेश में एक्टिव मरीजों की संख्या बढ़कर 24,000 के पार पहुंच गई है। बता दें कि बीते 24 घंटे में भोपाल में 582, इंदौर में 805 जबलपुर में 257 ग्वालियर में 160 लोगों की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। वही प्रदेश के 52 जिलों में लगातार संक्रमण के नए मामले सामने आ रहे हैं।

राजधानी सहित इंदौर, जबलपुर, ग्वालियर में स्थिति गंभीर होती जा रही है। जिसके बाद अस्पतालों में लगातार बेड बढ़ाने के निर्देश मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान द्वारा दिए गए हैं। वहीं वर्तमान में प्रदेश के 60% से ज्यादा मरीज होम आइसोलेशन (home isolation) में है। वहीं बीते 7 दिनों में संक्रमण के 20,000 से अधिक मामले सामने आए हैं।

Read More: VIDEO: अस्पताल में कोविड वैक्सीन को लेकर हुई मारा-मारी, प्रबंधन की बड़ी लापरवाही

बता दें कि इससे पहले मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने मास्क नहीं तो बात नहीं और मास्क नहीं तो सामान नहीं यह दोनों अभियान शुरू किया है। इसके साथ ही सीएम शिवराज ने कहा कि जो मास्क नहीं लगा रहा है। वह अपराध कर रहा है वही सीएम शिवराज ने मास्क का मतलब ही बताया है जहां M मेरा A आपका S सुरक्षा और K कवच है।

वही लॉक डाउन (LOCKDOWN) पर बोलते हुए सीएम शिवराज (CM Shivraj) ने कहा था कि संक्रमण को रोकने का उपाय है–लॉकडाउन! लेकिन यह लोगों से उनके रोजगार छीन लेगा। मैं इस तरीके से इसे सही नहीं मानता। प्रदेश में सीमित लॉकडाउन ठीक है। बस लोग नैतिक आग्रह का पालन करें और अपनी जिम्मेदारी को समझें।