कांग्रेस MLA ने सिंधिया पर लगाए गंभीर आरोप, कमलनाथ की जमकर तारीफ

श्योपुर।
मध्यप्रदेश में भले ही कोरोना वायरस के चलते लॉक डाउन जारी हो लेकिन सियासी हलचल अब भी तेज है। नेताओं के बीच बयानबाजियों का दौर तेजी से चल रहा है। हाल ही में11 साल पुराने एक आपराधिक मामले में जेल की सजा पाने वाले श्याेपुर से कांग्रेस विधायक  बाबू जंडेल का बड़ा बयान सामने आया है।बाबू ने ज्योतिरादित्य सिंधिया पर गंभीर आरोप लगाए है।बाबू फिलहालत जमानत पर बाहर है।

बाबू का आरोप है कि सिंधिया ने खून के मुताबिक काम किया। सिंधिया कायर हैं, जो सरकार गिरा दी।कांग्रेस ने सिंधिया को सब कुछ दिया।सोनिया गांधी ने मां का प्यार दिया। केंद्र सरकार में 10 साल मंत्री बनाया।मुख्यमंत्री कमलनाथ ने सिंधिया को खूब तवज्जों दी, उनके समर्थक विधायकों को मंत्री बनाया, फिर भी सिंधिया ने गद्दारी की।

कमलनाथ की तारीफ
वही कमलनाथ की तारीफ करते हुए बोले कि कमलनाथ फिर से मुख्यमंत्री बनेंगे। कमलनाथ नेता नहीं नाथ है। जनता कमलनाथ को फिर से मुख्यमंत्री देखना चाहती है।प्रदेश के माफिया ने सिंधिया को शिकार करके कांग्रेस सरकार को गिरवाया।वही उन्होंने दावा करते हुए कहा कि उप चुनावों में कांग्रेस सभी 24 सीटें जीतेंगी।

सिंधिया समर्थकों पर हमला
कांग्रेस छोडऩे वाले 22 विधायकों को आड़े हाथों लेते हुए कहा कि भाजपा से सभी 22 विधायकों को टिकट मिला तो बुरा हाल होगा। जनता तो क्या अब पत्नी और बच्चे भी इन नेताओं को माफ नहीं करेंगे।
कांग्रेस के साथ गद्दारी करने वालों को जनता जरूर सबक सिखाएगी।

जमानत पर बाहर चल रहे जंडेल

बता दे कि बाबूलाल जंडेल वही है जिन्हे हाल ही में 11 साल पुराने सिंचाई विभाग के इंजीनियर से मारपीट के मामले में भोपाल की विशेष अदालत से एक साल की सजा सुनाई गई थी और वह जेल चले गए थे। हालांकि 15 दिनों के अंदर ही जबलपुर हाईकोर्ट ने उन्हे राहत देते हुए उनकी जमानत मंजूर कर ली थी और अब वे जमानत पर बाहर है।

गौरतलब है कि बाबू जंडेल कांग्रेस के वे विधायक हैं, जिन्होंने प्रदेश मेें कांग्रेस सरकार बनने के तीन माह बाद ही हॉर्स ट्रेडिंग को लेकर खुलासा किया था। उन्होंने बीजेपी के नरोत्तम मिश्रा, संजय पाठक समेत कई नेताओं पर आरोप लगाए थे कि ये लोग उनके संपर्क में आकर उन्हें बीजेपी में शामिल कराना चाहते हैं।बाबू ने आरोप लगाते हुए कहा था कि भाजपा की ओर से कांग्रेस छोडऩे के लिए 37 करोड़ रुपये का ऑफर दिया है। मैं खानदानी आदमी हूं और बिकने वालों में नहीं हूं। मैं मरते दम तक कांग्रेस में रहूंगा। जंडेल ने कहा कि जो लोग कांग्रेस छोड़कर जा रहे हैं, वो बिजनेसमैन है और गद्दार हैं। हालांकि जंडेल बीजेपी के किसी भी तरह के झांसे में नही आए थे।