राजस्थान मामले पर पूर्व लोकसभा स्पीकर की टिप्पणी- नही होनी चाहिए युवा नेतृत्व की उपेक्षा

सुमित्रा महाजन

इंदौर।आकाश धोलपुरे

देश की पूर्व लोकसभा स्पीकर और बीजेपी की वरिष्ठ नेता सुमिता महाजन ने मंगलवार को राजस्थान में चल रही राजनीतिक उथल पुथल पर पूछे सवाल के जबाव में कहा कि राजस्थान में जो चल रहा है वो कांग्रेस की अंदरूनी लड़ाई है लेकिन मैं एक बात कहना चाहती हूं कि ये सोचने का समय आया है कि युवा नेतृत्व की उपेक्षा भी नही होनी चाहिये और भारतीय जनता पार्टी ने एक प्रकार से ये सोचना शुरू कर दिया है कि युवा नेतृत्व की उपेक्षा नही चाहिये उनको भी अपना कृतित्व दिखाने का मौका मिलना चाहिए ऐसे कांग्रेस का नाम लिए बगैर ताई ने कहा उनके संगठन को ध्यान देना चाहिए इस बात पर।

पूर्व लोकसभा स्पीकर ने ये बात से बीजेपी महिला मोर्चा के घर-घर मोदी घर-घर तुलसी अभियान को प्रारंभ करते वक्त कही। हालांकि ताई के सांवेर उपचुनाव के इस अभियान के जरिये मैदान संभालते ही ये चर्चा भी शुरू हो गई है कि अभियान के जरिये सांवेर उपचुनाव के मैदान में उनकी दस्तक है जिसका फायदा बीजेपी को बहुत हद तक मिलेगा क्योंकि सांवेर ग्रामीण क्षेत्र में ताई की गहरी पैठ है। ताई ने उपचुनाव की बात नही नकारा और कहा कि राजनीति में चुनाव होते है पहले 5 साल में चुनाव होते थे अब उसके पहले भी चुनाव होने लगे हैं लिहाज़ा चुनाव में सक्रिय रहना चाहिए। वही रेलमंत्री को लिंक एक्सप्रेस के लिए लिखी गई चिट्टी पर उन्होंने कहा कि इंदौर की उपेक्षा न हो इसलिए कड़े शब्दों में रेल मंत्री को चिट्ठी लिखी थी। वही उन्होंने लॉक डाउन के सवाल पर कहा कि लॉकडाउन ना लगे लेकिन लोगों में जागरूकता लाना बहुत जरूरी है।

घर घर तुलसी अभियान पर पूर्व लोकसभा स्पीकर सुमित्रा महाजन ने कहा कि यह संकल्प बहुत पुराना है लेकिन अब चुनाव है तो इस अभियान को चुनाव से भी जोड़ कर देखा जा सकता है।