राज्यपाल आनंदीबेन पटेल का बयान- मप्र में कोरोना रोकने जनता कर्फ्यू अत्यंत कारगर

राज्यपाल

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) में तेजी से बढ़ते कोरोना (Corona) के आंकड़ों के बाद राज्यपाल आनंदीबेन पटेल (MP Governor Anandiben Patel) का बड़ा बयान सामने आया है। राज्यपाल ने कहा है कि कोरोना संक्रमण को प्रभावी ढंग से रोकने में जनता कर्फ्यू अत्यंत कारगर सिद्ध होगा। उन्होंने नगरीय क्षेत्रों में आवासीय एवं मोहल्ला समितियों और ग्रामीण अंचल में सरपंचों (Sarpanch) का आव्हान किया कि वे कोरोना संक्रमण रोकने में जनता कर्फ्यू जैसे प्रयासों को प्रभावी तरीके से लागू करें।

यह भी पढ़े.. कोरोना काल में मप्र के कक्षा 6वीं और 8वीं के छात्रों को लेकर एक और बड़ा फैसला

राजभवन लखनऊ (Raj Bhavan Lucknow) से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से सर्वदलीय बैठक में शामिल हुई राज्यपाल ने कहा है कि कोविड संक्रमण को रोकने के लिए MASK, सेनेटाइजेशन और सामाजिक दूरी का पालन सहित अन्य जरूरी सभी सावधानियाँ बरती जानी चाहिए। राज्यपाल ने कहा कि कोरोना की स्थिति के संबंध में प्रति दिन मीडिया को जानकारी दी जाए।Vaccination की स्थिति, चिकित्सालयों में कितने बिस्तर भरे है, कितने खाली है, वेन्टीलेटर, ऑक्सीजन की उपलब्धता की स्थिति, नये पॉजीटिव केसेस और मृत्यु की जानकारी का विवरण दिया जाए। नियमित रूप से सर्वदलीय बैठकों का आयोजन हो।

राज्यपाल पटेल ने प्रसन्नता व्यक्त करते हुए कहा कि कोविड संक्रमण के विश्वव्यापी संकट के समय सभी राजनैतिक दल कंधे से कंधा मिलाकर सहयोग के लिए तत्पर हैं, यह अत्यंत हर्ष का विषय है। उन्होंने अधिकारियों को निर्देशित किया कि बैठक में जो नये सुझाव आए है, उन पर अमल किया जाए। राज्यपाल ने कहा कि आज 11 अप्रैल को महात्मा ज्योतिबा फुले की जयंती से 14 अप्रैल बाबा साहब भीमराव अंबेडकर (Baba Saheb Bhimrao Ambedkar) की जयंती तक प्रदेश में टीका उत्सव मनाया जा रहा है, जिसके अंतर्गत 45 वर्ष से अधिक उम्र के हर व्यक्ति को कोरोना का टीका लगाए जाना सुनिश्चित करना है।

यह भी पढ़े.. इंदौर: लॉकडाउन के बीच तुलसी सिलावट की बैठक, पुलिस अधिकारियों को दिए ये निर्देश

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (CM Shivraj Singh Chauhan) ने कहा कि कोरोना का संकट बड़ा है। प्रदेश में कोरोना की पहली पीक से दो गुना से अधिक प्रकरण आ रहे हैं। ऐसे में सभी मिलकर कोरोना के विरुद्ध लड़ाई लड़ें और इसे परास्त करें। हमें तीन स्तरों पर इस लड़ाई को लड़ना होगा। सभी के सहयोग से कोरोना के संक्रमण को प्रभावी ढंग से रोकना, सभी जिलों में कोरोना के उपचार की अच्छी से अच्छी व्यवस्था तथा 45 वर्ष से अधिक उम्र के हर व्यक्ति का वैक्सीनेशन। साथ ही प्रदेश की अर्थ-व्यवस्था न बिगड़े इसके लिए (Lockdown) के स्थान पर स्वतः स्फूर्त कोरोना कर्फ्यू लगाया जाएगा।

मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश में अभी तक 83 हजार व्यक्तियों ने कोरोना वॉलेंटियर्स के रूप में अपना पंजीयन करवाया।  प्रदेश के सभी जिलों में कोरोना के उपचार के लिए पर्याप्त बिस्तरों, ऑक्सीजन सप्लाई, इंजेक्शन, दवाओं आदि की व्यवस्था है। Private Hospital को भी अनुबंधित किया जा रहा है। भोपाल में RKDF अस्पताल के साथ भी अनुबंध किया जा रहा है। हर जिले में कोविड केयर सेंटर चालू किए जा रहे हैं। अस्पतालों में ‘ऑक्सीजन कंसंट्रेटर’ की भी व्यवस्था की जा रही है। यह मशीन हवा से सीधे ऑक्सीजन खींचकर मरीज को देती है।

यह भी पढ़े.. MP Weather: मप्र के इन जिलों में बारिश की संभावना, बिजली चमकने के साथ ओलावृष्टि के आसार

इस वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग में मुख्यमंत्री चौहान मंत्रालय से और बाकी खजुराहो सांसद एवं भाजपा प्रदेश अध्यक्ष वी.डी. शर्मा, कांग्रेस विधायक  पी.सी. शर्मा, बहुजन समाज पार्टी के सी.आर. गौतम, कम्युनिस्ट पार्टी ऑफ़ इंडिया के  शैलेंद्र शैली, तृणमूल कांग्रेस के  सचिन सिंह, कम्युनिस्ट पार्टी मार्क्सवादी के जसविंदर तथा एनसीपी के  बृजमोहन श्रीवास्तव सहित चिकित्सा शिक्षा मंत्री विश्वास सारंग, मुख्य सचिव  इकबाल सिंह बैंस, अपर मुख्य सचिव स्वास्थ्य  मोहम्मद सुलेमान वर्चुअली जुड़े।