इमरती देवी का सवाल – जो MLA मंत्री न बन पाए उन्हें 5 लाख महीना क्यों देते थे कमलनाथ ?

इमरती देवी ने आरोप लगाया कि खरीदते तो वे हैं कोई उनसे पूछे कि जिन विधायकों को वे मंत्री नहीं बना पाए उन्हें हर महीने पांच पांच लाख रुपये क्यों देते थे?

IMARTI DEVI

ग्वालियर, अतुल सक्सेना। मध्यप्रदेश (Madhya Pradesh) की महिला एवं बाल विकास मंत्री (Minister of Women and Child Development) और डबरा विधानसभा से BJP प्रत्याशी इमरती देवी (BJP candidate Imrati Devi) ने बिकाऊ और टिकाऊ को लेकर बड़ा बयान दिया है। उन्होंने पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ (Former Chief Minister Kamal Nath) से सवाल किया कि वे बताएं कि जो विधायक, मंत्री नहीं बन पाए उन्हें वे हर महीने पांच पांच लाख रुपये क्यों देते थे।

इमरती देवी ने अपनी जीत सुनिश्चित बताते हुए कहा कि मेरे विरोध में खड़े मेरे समधी पहले 35 हजार वोट से हारे थे अब 80 हजार से हारेंगे। दरअसल, आज गुरुवार को डबरा विधानसभा से BJP की प्रत्याशी महिला एवं बाल विकास मंत्री इमरती देवी ने कलेक्ट्रेट पहुंचकर अपना नामांकन दाखिल किया। इस दौरान उनके साथ प्रदेश के गृह मंत्री डॉ नरोत्तम मिश्रा (Home Minister Dr. Narottam Mishra), ग्वालियर सांसद विवेक शेजवलकर (Gwalior MP Vivek Shejwalkar) सहित भाजपा के अन्य कई वरिष्ठ नेता शामिल थे।

नामांकन फॉर्म जमा करने के बाद मीडिया से बात करते हुए इमरती देवी ने कहा कि मुझे बहुत समर्थन मिल रहा है और मैं अपनी जीत सुनिश्चित मानती हूँ। मुझे पूरा विश्वास है मेरे क्षेत्र की जनता पर वो मुझे कभी पीठ नहीं दिखाएगी। उन्होंने कहा कि कांग्रेस को मेरे क्षेत्र की जनता 10 नवंबर को जवाब देगी। उनके विरोध में कांग्रेस से खड़े उनके समधी सुरेश राजे से मुकाबले के सवाल पर भाजपा प्रत्याशी इमरती देवी ने कहा कि वे 2013 में मेरे खिलाफ लड़े थे तब 35 हजार वोटों से हारे थे अब 80 हजार वोटों से हारेंगे क्या फर्क पड़ेगा।

कमलनाथ दें जवाब- मंत्री नहीं बनने वाले विधायक को वे पांच लाख रुपये महीना क्यों देते थे

कमलनाथ और कांग्रेस द्वारा 35 करोड़ में बिकने के सवाल का जवाब देते हुए मंत्री इमरती देवी ने कहा कि कमलनाथ जी ऐसा काम करते हैं इसलिए उन्हें ये सब पता रहता है। इमरती देवी ने आरोप लगाया कि खरीदते तो वे हैं कोई उनसे पूछे कि जिन विधायकों को वे मंत्री नहीं बना पाए उन्हें हर महीने पांच पांच लाख रुपये क्यों देते थे? वे जैसे हैं वैसा सबको मानते हैं। लेकिन मेरी जनता मुझे बिकाऊ मान ही नहीं सकती। उन्होंने कहा कि विधायकों को पांच पांच लाख रुपये दिये जाने के पूरे सुबूत हैं हमारे पास। कमलनाथ को ये लगता था कि कहीं हमारी सरकार ना चली जाए इसलिए विधायकों को बांध कर रखो।

कांग्रेस प्रत्याशी पर तंज, अब उनके पास रोने के अलावा क्या बचा है

बुधवार को नामांकन भरने से पहले अपनी माँ के गले लगकर रोने वाले कांग्रेस प्रत्याशी एवं उनके समधी सुरेश राजे के बारे में जब मीडिया ने भाजपा प्रत्याशी इमरती देवी से सवाल किया तो उन्होंने तंज कसते हुए कहा कि अब उन्हें रोना तो है ही, अब वे देख रहे हैं कि पूरी जनता इमरती के साथ लग गई है वे रोने के अलावा क्या करेंगे?

लखपति हैं तो कमलनाथ घर बैठे क्यों लड़ते हैं चुनाव

किसान कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष दिनेश गुर्जर (Dinesh Gurjar) द्वारा मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (Chief Minister Shivraj Singh Chauhan) को भूखा नंगा कहे जाने के सवाल पर इमरती देवी ने कहा कि हाँ शिवराज जी गरीब हैं इसीलिए तो गरीबों का दर्द समझते है और उनका विकास कर रहे हैं उनकी सेवा कर रहे हैं। कमलनाथ लखपति हैं तो घर बैठें क्यों लड़ते हैं चुनाव। उन्हें सेवा करनी ही नहीं आती उन्होंने गरीबी देखी कहाँ है उन्होंने तो उद्योग देखे हैं। गद्दार और वफादार के सवाल पर मंत्री इमरती देवी ने कहा कि इमरती डबरा ही नहीं मध्यप्रदेश के लिए पूरी तरह वफादार है, गद्दार है तो कमलनाथ हैं वे तो अपनी पार्टी ही नहीं बचा पाए, और क्यों नहीं बचा पाई ये प्रदेश की जनता अच्छे से जानती है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here