उपचुनाव: इस सीट पर सभी दावेदारों ने किया पार्टी प्रत्याशी का विरोध, बढ़ सकती है कांग्रेस की मुश्किलें

बुरहानपुर, शेख रईस। बुरहानपुर जिले की नेपानगर सीट पर प्रदेश कांग्रेस कमेटी ने रामकिशन पटेल को टिकट की घोषणा की। घोषणा होते ही टिकट की कतार में लगे 18 दावेदारों ने एक स्वर में रामकिशन पटेल का विरोध पहले सोशल मीडिया पर फिर सार्वजनिक रूप से नेपानगर के बाबा साहब अंबेडकर चौराहा पर किया दावेदारों की मांग है। रामकिशन पटेल को पार्टी ने दो बार मौका दे दिया है जिसमें वह चुनाव हार गए है। अब 18 दावेदारों में से किसी एक को पार्टी टिकट दें टिकट को लेकर इसे मचे घमासान पर जिला कांग्रेस कमेटी का कहना है। यह उनके परिवार का मामला है जिसे सुलझा लिया जाएगा जबकि बीजेपी ने चुटकी लेते हुए कहा यह कांग्रेस का अंदरूनी मामला है। टिकट कांग्रेस चाहे किसी को भी दें जीत बीजेपी उम्मीदवार की तय है।

बुरहानपुर की नेपानगर सीट से कांग्रेस से विधायक रही सुमित्रा कास्डेकर के अचानक इस्तीफा देने व कांग्रेस का हाथ छोड बीजेपी का दामन थामने से सीट रिक्त हुई। बीजेपी ने कांग्रेस छोड बीजेपी में आई। पूर्व विधायक सुमित्रा कास्डेकर को ही अपना प्रत्याशी बनाने का ऐलान किया। उधर कांग्रेस में टिकट की दौड में दो दर्जन लोगों ने अपने दावे पेश किए लेकिन पीसीसी चीफ कमलनाथ ने 2008 व 2013 में पार्टी के टिकट पर पराजित हुए रामकिशन पटेल के नाम पर टिकट की मोहर लगाई।

लेकिन जैसे ही रामकिशन पटेल के नाम की घोषणा हुई। शेष सभी 18 टिकट के दावेदार एक जाजम पर आ गए। उन्होने तुरंत सोशल मीडिया में रामकिशन पटेल को टिकट दिए जाने का विरोध किया। 18 दावेदारों ने रामकिशन पटेल की कमजोरियों का कच्चा चिट्ठा लिखा। एक पत्र पीसीसी चीफ कमलनाथ के लिए तैयार किया और इस पत्र को सार्वजनिक किया। इसके बाद नेपानगर के प्रमुख अंबेडकर चौराहा पर सभी 18 टिकट के दावेदार जमा हुए और एक स्वर में रामकिशन पटेल को टिकट देने का विरोध किया और पार्टी से पुनर्विचार करने की मांग की। उन्होने मांग की 18 मे से पार्टी किसी को भी टिकट दे दे लेकिन रामकिशन पटेल का टिकट वापस ले।

जिला कांग्रेस कमेटी इस तरह सोशल मीडिया व सार्वजनिक रूप से दावेदारों के व्दारा विरोध करने से चिंता में आ गई। दोनों जिलाध्यक्षों शहर कांग्रेस अध्यक्ष अजय सिंह रघुवंशी जिला कांग्रेस कमेटी ग्रामीण अध्यक्ष किशोर महाजन ने पार्टी के आला नेताओं को गतिविधियों से अवगत कराया मीडिया के सवाल पर जिला अध्यक्ष ने कहा टिकट मिलने के बाद इस तरह का विरोध स्वाभाविक है। यह हमारे परिवार का मामला है। जिसे हम बैठकर सुलझा लेंगे- किशोर महाज,  जिला कांग्रेस कमेटी, ग्रामीण अध्यक्ष

उधर बीजेपी जिलाध्यक्ष ने कांग्रेस में टिकट को लेकर हो रहे घमासान पर चुटकी लेते हुए कहा यह कांग्रेस का अंदरूनी मामला है लेकिन कांग्रेस चाहे किसे टिकट दे सर्वे के आधार पर या किसी नेता के पट्ठे को टिकट दे जीत बीजेपी के उम्मीदवार सुमित्रा कास्डेकर की तय है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here