कमलनाथ के दावे पर बोले कैलाश, इस उम्र में नींद नहीं आती, इसलिए सपने देख रहे

इंदौर में कैलाश विजयवर्गीय ने कांग्रेस कमलनाथ पर बोला हमला, कृषि बिल को बताया जनता के हित में

kailash-kamalnath

इंदौर, आकाश धोलपुरे| मध्य प्रदेश (Madhyapradesh) की 28 सीटों पर होने वाले उपचुनाव (By-election) के लिए 3 नवंबर को वोटिंग होगी और 10 नवम्बर को परिणाम आएंगे| लेकिन चुनाव परिणाम (Election Result) से पहले ही बड़े दावे किये जा रहे हैं| कांग्रेस का दावा है कि 35 दिन बाद प्रदेश में फिर उनकी सरकार बनेगी| इस पर भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय (Kailash vijayvargiya) ने बड़ा हमला बोला है|

इंदौर में कैलाश विजयवर्गीय ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर कमलनाथ (Kamalnath) पर तंज कसा है| कांग्रेस (Congress) के दोबारा सत्ता में आने के दावे पर विजयवर्गीय ने कहा कि इस उम्र में नींद नहीं आती है तो आदमी सपने देखता है, सपने देखने में बुराई नहीं है। इस उम्र में आकर नींद कम हो जाती है, फिर रात में सपने आते हैं। उनके साथ यही हो रहा है।

कृषि बिल के बताये फायदे
बीजेपी के राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय ने रविवार को इंदौर में विपक्ष और कांग्रेस पर तीखा हमला बोला और कृषि विधयेक बिल को लेकर सबकुछ साफ किया। हालांकि इस बिल की नीतियों को स्पष्ट करने के लिए केंद्रीय मंत्री थावरचंद गहलोत भी इंदौर आये थे लेकिन वो खुद बिल की बजाय हाथरस में किये बल प्रयोग को लेकर उलझते दिखाई दिए थे| लेकिन बीजेपी राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय ने कृषि बिल की बारीकियों से अवगत कराते हुए बीजेपी की स्पष्ट नीति को भी अपने अंदाज में सामने रखा। विजयवर्गीय ने कहा कि मेरा मानना है कृषि बिल को लोग पढ़े और समझे फिर प्रतिक्रिया व्यक्त करे। मैंने उन बिलो का बारीकी से अध्यन किया है। मैं दावे और पूरी जबावदारी से कह सकता हूँ जो लोग इस बिल का विरोध कर रहे है वो किसान हितैषी नही है।

गलतफहमी फैलाने वालों को जनता माफ़ नहीं करेगी
कैलाश ने कहा कृषि बिल किसानों की आय को दुगुना करने का एक साधन है वही कृषि क्षेत्र में बाहर का इन्वेस्टमेंट आये ताकि कृषि आधुनिक हो और जितने भी कांट्रैक्ट फार्मिंग के नियम बने है उसका पूरा लाभ किसान को मिले। उन्होंने कहा कि कांग्रेस, दिग्भ्रमित कर रही है कि किसानों की जमीन चली जायेगी जबकि कांट्रेक्ट फार्मिंग के अंदर जमीन का कांट्रेक्ट नही हो सकता ये प्रावधान है, केवल जमीन के ऊपर होने वाली फसल का ही कांट्रेक्ट हो सकता है ऐसे में जमीन कैसे जाएगी। उन्होंने कहा कि राष्ट्रपति के हस्ताक्षर के बाद जो इस प्रकार की गलतफहमी फैला रहे है वो एक तरह से आपराधिक कृत्य है चाहे कोई भी कर रहा हो चाहे वो राहुल गांधी करे या ममता जी ये एक आपराधिक श्रेणी का काम है कि आप किसी बिल को जनता के बीच गलत तरीके से प्रस्तुत कर रहे हो जनता इन्हें माफ नही करेगी।

पंजाब में कृषि बिल के विरोध पर यह बोले
इधर, पंजाब में कृषि बिल पर जारी विरोध पर विजयवर्गीय ने कहा वहां विरोध इसलिए हो रहा है क्योंकि पंजाब में कुल किसानों पर अपनी उपज को बेचने के बाद जो टैक्स लगता है जो टैक्स लगता है वो 8 प्रतिशत लगता है और मंडी के क्षेत्र में लगता और वही से राजनीति शुरू होती है और वहां राजनीतिज्ञों का एक बहुत बड़ा नुकसान होगा। क्योंकि, किसान अपनी उपज बाहर भी बेच सकेगा, मंडी तो आएगा नही। जिसका सीधा मतलब किसान को यदि एमएसपी पर बेचना है तो वो मंडी में बेचेगा और यदि बाहर उपज का मूल्य ज्यादा मिल रहा है तो वो बाहर भी बेच सकेगा और किसान को एक नया पैसा टैक्स नही लगेगा। किसानों के टैक्स के दायरे से बाहर निकालना है इसलिए बिल किसानों के लाभकारी होगा और जो लोग भी बिल का विरोध कर रहे है वी किसान हितैषी नही है वो सिर्फ राजनीति कर रहे है।

अकाली दल द्वारा कृषि बिल के विरोध किये जाने को लेकर बीजेपी महासचिव ने कहा कि वो ठीक तरह से बिल को किसानों को समझा नही पाए और किसानों के दबाव में आ गए। यदि वो खुद ठीक से बिल को समझते तो और डंके की चोंट पर किसानों को समझाते तो पंजाब के अंदर आंदोलन नही होता। उन्होंने कहा कि नेता कभी कभी फ़ॉलोर्स के दबाव में आ जाता है और इसलिये नेतृत्व को कई बार कड़वे घूंट पीकर स्टेंड लेना चाहिए। मुझे गर्व है कि बीजेपी ने समय समय पर स्टेंड लिया। उन्होंने कहा कि 84 में जब दंगे हुए थे जब सारा देश सिक्ख समाज के विरोध में था तब बीजेपी ने स्टेंड लिया था की सिक्ख समाज हमारे देश और समाज का एक अंग है। किसी एक व्यक्ति ने कुछ किया तो आप समाज के ऊपर आरोप नही लगा सकते है। उसकी राजनीति क्षति हुई। हमारे सिर्फ 2 सांसद थे तो बीजेपी ने समय समय पर देश हित और समाज हित मे स्टेंड लिया है भले ही राजनीति का नुकसान हो हमने कभी चिंता नही की क्योंकि बीजेपी की राजनीति दूरदृष्टि की है। उन्होंने कहा कि आज यदि हम 15 करोड़ सदस्यों की विश्व की सबसे बड़ी पार्टी है तो हमने 10 लोगो से पार्टी प्रारंभ की थी इसलिये की हमारी दूरदृष्टि है। क्योंकि हमारी आइडोलॉजी बिल्कुल साफ है। हमने साफ कहा था कि हम राम मंदिर बनाएंगे, धारा 370 हटाएंगे, किसी से छिपा के नही किया। हमारी स्पष्ट नीति है और हमने राजनीतिक लाभ हानि की कोई चिंता नही की है। इसलिए मोदी जी ने कहा कि देश पहले दल बाद में। वही उन्होंने विपक्ष पर निशाना साधते हुए कहा कि कुछ लोग इस देश मे ऐसे है जिनके लिए दल पहले और देश बाद में है इसलिए देश की जनता ने उन्हें बौना कर दिया छोटा कर दिया। वही उन्होंने दावा किया कि बंगाल में ममता बैनर्जी की 100 सीट भी नही आएगी वो इसलिए क्योंकि वो दल की चिंता करती है कुर्सी की ना कि देश की।

हाथरस मामले में अब ज्यादा बहस ठीक नहीं, सीबीआई अपना काम करेगी
हाथरस मामले में डीएम पर कार्रवाई न होने के सवाल पर विजयवर्गीय ने कहा कि इस पर बहुत ज्यादा बहस नही करना चाहिए क्योंकि इसमे सीबीआई जांच के आदेश हो गए है और सीबीआई इसमे दूध का दूध और पानी का पानी निकाल देगी। वही उन्होंने कहा कि सुशांत सिंह, सुशांत सिंह का खूब चला मीडिया वाले भी लगातार 3 महीने से दिखा रहे है। पिछले 4 दिन से मैं तो इतना पक गया कि मैंने टीवी देखना ही बन्द कर दिया क्योंकि खुलते ही वो ही दिखता है बॉम्बे और बॉलीवुड और अब सीबीआई जांच में आ गया कि आत्महत्या हुई।