कमलनाथ बोले -इसी मंच से सिंधिया ने बांटे थे कर्ज माफी के सर्टिफिकेट, अब बोल रहे झूठ

कमलनाथ ने कहा कि वह यह सच्चाई जान लें कि करैरा के इसी मंच से सिंधिया ने किसान भाइयों को कर्ज माफी के सर्टिफिकेट खुद अपने हाथों से बाँटे थे।

kamalnath-congress

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। उपचुनाव (MP By-election) से पहले प्रदेश में कर्ज माफी (Debt waiver) और किसानों को लेकर सियासी पारा हाई है। सत्तापक्ष और विपक्ष के बीच जमकर जुबानी जंग का दौर तेजी से चल रहा है। अब पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ (Kamal Nath) ने सत्तापक्ष पर हमला बोलते हुए कहा कि मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (Shivraj Singh Chauhan और ज्योतिरादित्य सिंधिया (Jyotiraditya Scindia) किसान कर्ज माफी को लेकर झूठ बोल रहे हैं , वह यह सच्चाई जान लें कि करैरा के इसी मंच से सिंधिया ने किसान भाइयों को कर्ज माफी के सर्टिफिकेट खुद अपने हाथों से बाँटे थे।हम वादा दिलाते हैं हमारी सरकार वापस बनेगी तो किसानों का 2 लाख तक का भी कर्जा माफ करेंगे।

दरअसल, बुधवार को प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ (Former Chief Minister Kamal Nath) ने शिवपुरी जिले की करैरा विधानसभा (Karaira Assembly) के कांग्रेस प्रत्याशी प्रागीलाल जाटव (Congress candidate Pragilal Jatav) व शिवपुरी जिले की पोहरी विधानसभा (Pohri Assembly) के कांग्रेस प्रत्याशी हरिवल्लभ शुक्ला (Congress candidate Harivallabh Shukla) के समर्थन में आयोजित विशाल जनसभाओं को संबोधित करने पहुंचे थे।जहां उन्होंने कहा कि बाबासाहेब आंबेडकर ने संविधान (Constitution) बनाया था और उसमें प्रावधान किया था कि यदि किसी विधायक या सांसद का निधन हो जाता है तो उपचुनाव होंगे लेकिन उन्होंने कभी सपने में भी नहीं सोचा था कि सौदेबाजी व बोली के कारण भी उपचुनाव होंगे ,उन्होंने इसका कोई प्रावधान उन्होंने नहीं रखा था।

युवाओं को रोजगार का वादा

इस अवसर पर नाथ ने कहा कि आज का युवा (Youth) प्रदेश का नवनिर्माण करेगा , उसके सामने अंधेरा है।3 तारीख के बाद यह झंडे पोस्टर बैनर नहीं दिखेंगे लेकिन हमारा युवा नौजवान ,किसान (Farmers) यही रखे रहेंगे , उनका भविष्य हमें सुरक्षित हाथों में सौंपना है ,यह हमारा संकल्प होना चाहिए।मै सिर्फ़ रोजगार की बात ही नहीं कर रहा हूं बल्कि सुरक्षित रोजगार (Employment) का भी वादा दिलाता हूँ।आप भले कांग्रेस का ,कमलनाथ का साथ मत देना लेकिन सच्चाई का साथ जरूर जरूर देना क्योंकि यह चुनाव सच और झूठ का चुनाव है।मुझे पूरा विश्वास है कि जनता सच्चाई का साथ देगी और प्रदेश के भविष्य का नया इतिहास रचेगी।

भाजपा ने कैसा मध्य प्रदेश को देशभर में कलंकित किया

कमलनाथ ने कहा कि आज देश भर में उप चुनाव हो रहे हैं लेकिन मध्यप्रदेश में 28 उपचुनाव में से 25 उपचुनाव किसी के निधन के कारण नहीं हो रहे है बल्कि सौदेबाजी व बोली के कारण यह उपचुनाव हो रहे हैं , कैसा मध्य प्रदेश को कलंकित देशभर में भाजपा ने किया।प्रदेश की राजनीति को भाजपा ने बिकाऊ राजनीति बना दिया।वीरों की माटी ग्वालियर-चंबल (Gwalior-Chambal) को देशभर में बदनाम किया , इस अनैतिक राजनीति का ऐसा दौर किसी ने कभी नहीं सोचा होगा।चुनाव तो प्रजातंत्र का उत्सव होते हैं लेकिन भाजपा ने इन उपचुनावों को सौदेबाजी का उत्सव बना दिया , लोकतंत्र को धन तंत्र में तब्दील कर दिया।

सब कुछ बर्दाश्त कर सकते हैं लेकिन

नाथ ने कहा कि ग्वालियर-चंबल की माटी वीरों की भूमि है ,बहादुरों की माटी है ,यहां के सबसे ज्यादा लोग हमारे देश की रक्षा के लिए सीमाओं पर डटे हुए हैं।यहां के लोग सब कुछ बर्दाश्त कर सकते हैं लेकिन ग़द्दारों और बिकाऊओ को बर्दाश्त नहीं कर सकते है , यहां के लोग यही संदेश देश भर में देंगे।मैं महाराजा नहीं मैं तो सिर्फ़ कमलनाथ हूं ,महाराजाओं को तो आपने आजमा लिया  और पहचान भी लिया।प्रदेश की जनता ने 15 वर्ष बाद अपने वोट से कांग्रेस की सरकार बनायी लेकिन हमारी 15 माह की सरकार को नोटों से बल से गिरा दिया और नोट की सरकार बना ली गयी।

27 लाख किसानों के कर्जमाफी की बात सरकार ने विधानसभा में स्वीकार

15 वर्ष बाद भाजपा ने जो प्रदेश हमें सौंपा वो किसानों की आत्महत्या ,महिलाओं पर अत्याचार ,बेरोजगारी ,भ्रष्टाचार में देश में नंबर वन पर था।कई चुनौतियां हमारे सामने थी ,कृषि क्षेत्र की चुनौती हमारे सामने थी।किसान का जन्म क़र्ज़ में होता है और किसान की मृत्यु भी कर्ज में होती है।हमने क्रांति लाते हुए कर्ज माफी की शुरुआत की , पहली बार इतिहास में हमने डिफाल्टर के साथ-साथ चालू खाते वालों का भी कर्ज माफ किया।हमने 27 लाख किसानों का कर्ज माफ किया ,जिसकी सच्चाई भाजपा सरकार ने विधानसभा में भी स्वीकारी।

मेरी और शिवराज की सरकार में अंतर देख लें

इस अवसर पर सभा को संबोधित करते हुए नाथ ने कहा कि हमारी सरकार ने किसानों के साथ न्याय किया ,आज धान का भाव देख ले क्या मिल रहा है और 1 वर्ष पहले हमारी सरकार में क्या मिल रहा था , यह अंतर देख ले ? आज शिवराज जी झूठ की , घोषणाओं की व कलाकारी की राजनीति कर रहे हैं।खुद को कभी किसान का बेटा बनाते हैं ,कभी मामा बताते हैं और तस्वीर आपके सामने हैं कि आज उनकी सरकार में किसान भाई और भांजियाँ ही सबसे ज़्यादा अत्याचार का शिकार हो रहे है। हमारा प्रदेश 5 प्रदेशों से घिरा होने के बावजूद निवेश को तरस रहा था , प्रदेश में कोई निवेश करने को तैयार नहीं था क्योंकि विश्वास का माहौल नहीं था।जितने उद्योग लगते नहीं थे ,उससे ज्यादा बंद हो जाते थे।आज मालनपुर का हाल देखिए , वहाँ शराब के तमाम उद्योग लग गए।लोगों को प्रदेश पर विश्वास नहीं था , विश्वास हो भी क्यों , क्योंकि प्रदेश की पहचान भ्रष्टाचार (Corruption) , माफ़ियाओ और मिलावटखोरों से थी।हमने इस तस्वीर को बदलने का काम किया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here