कोरोना काल में निजी अस्पतालों की मनमानी के खिलाफ वकीलों ने खोला मोर्चा

टीम अपनी रिपोर्ट हाई कोर्ट बार एसोसिएशन अध्यक्ष को सौपेगी और फिर निजी  अस्पतालों के खिलाफ कार्रवाई का निर्णय लिया जाएगा। 

जबलपुर, संदीप कुमार। जबलपुर (Jabalpur) सहित पूरे मध्यप्रदेश (MP) में निजी अस्पतालों (Private Hospitals) की मनमानी के खिलाफ अब अधिवक्ताओं (Lawyers) ने मोर्चा खोल दिया है।  निजी अस्पतालों  (Private Hospitals) की जबरन वसूली और लापरवाही के खिलाफ अधिवक्ता (Lawyers) एकजुट हो गए हैं और इनका साथ दिया है हाई कोर्ट बार एसोसिएशन ने।  जबलपुर हाई कोर्ट बार एसोसिएशन अध्यक्ष रमन पटेल के निर्देश पर निजी अस्पतालों (Private Hospitals) पर लगाम लगाने के लिए 180 वकीलों (Lawyers) की टीम बनाई गई है जो अब पुलिस-प्रशासन की मदद लेकर उन निजी अस्पतालों (Private Hospitals) का निरीक्षण करेगी जहाँ निजी अस्पतालों (Privet Hospitals) की लापरवाही के कारण मरीजों की मौत हो रही है।

कोरोना महामारी में आदमी परेशान है, वो दहशत में है। परिजन को बचाने के लिए वो ना अपनी जान की परवाह कर रहा है और ना ही जीवन भर की खून पसीने की गाढ़ी कमाई को भी बिना सोचे समझे लुटा रहा है और उसकी इस मज़बूरी और लाचारी का फायदा उठा रहे है प्रदेश के कई निजी अस्पताल (Private Hospitals), जो लाखों का बिल लेने के बाद भी इंसान की जान नहीं बचा पा रहे। लेकिन ऐसे निजी अस्पतालों (Private Hospitals) के खिलाफ अधिवक्ता लामबंद हो गए हैं।

जबलपुर हाईकोर्ट बार एसोसिएशन अध्यक्ष रमन पटेल के निर्देश पर 180 वकीलों (Lawyers) की एक टीम बनाई गई है जो पुलिस-प्रशासन की मदद लेकर उन निजी अस्पतालों  (Private Hospitals) का निरीक्षण करेगी जहाँ निजी अस्पतालों (Private Hospitals) की लापरवाही के कारण मरीजों की मौत हो रही है। टीम अपनी रिपोर्ट हाई कोर्ट बार एसोसिएशन अध्यक्ष को सौपेगी और फिर निजी  अस्पतालों (Private Hospitals) के खिलाफ कार्रवाई का निर्णय लिया जाएगा।

ये भी पढ़ें – सीएम के संबोधन के पहले मध्य प्रदेश के इन जिलों में बढ़ाया गया कोरोना कर्फ्यू

बताय जा रहा है कि निजी अस्पतालों (Private Hospitals) की जबरन वसूली, इलाज में हो रही लापरवाही पर अब इन वकीलों की हमेशा नजर रहेगी, मध्यप्रदेश बार एसोसिएशन की बैठक में बार एसोसिएशन के अध्यक्ष रमन पटेल ने इस टीम का गठन किया है,ये टीम निजी अस्पतालों (Private Hospitals) में भर्ती अधिवक्ता और अन्य मरीजों के इलाज की निगरानी करेंगे, एसोसिएशन के अध्यक्ष रमन पटेल ने कहा कि इस कोरोनाकाल में आम जनता परेशान है और निजी अस्पतालों में लूट मची है।  अध्यक्ष रमन पटेल ने कहा कि स्टेट बार को 5 करोड़ की राशि दी गई है इसमें से आधी राशि वकीलों को दी जाएगी जिससे उनके परिवार का खर्चा चल सके।

ये भी पढ़ें – 1947 में भारत को ब्रिटिश शासन से आजादी दिलाई, 104 वर्ष की आयु में खुद को कोरोना से आजाद किया