मप्र बजट सत्र: गेहूं-खाद घोटाले पर शिवराज सरकार ने मानी गलती, चिटफंड कंपनियों पर दिए ये जवाब

वहीं कांग्रेस विधायक शशांक भार्गव ने सरकार पर आरोप लगाया कि खुले में पड़े रहने की वजह से 4 हजार टन गेहूं पानी में खराब हो गए हैं।

MP Budget

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। मध्य प्रदेश बजट सत्र (Madhya Pradesh Budget Session) के चौथे दिन विधानसभा में जवाब सवाल का दौर चलता रहा। विधायकों (mlas) के उठाए सवालों का मंत्री द्वारा जवाब दिया गया। इस बीच कांग्रेस विधायक कलावती भूरिया (kalawati bhuria) ने पूर्व विधायक नागर सिंह चौहान (nagar singh chauhan) पर सनसनीखेज आरोप लगाए।

दरअसल कांग्रेस विधायक कलावती भूरिया ने कहा कि नागर सिंह चौहान मेरी हत्या करा देंगे। अलीराजपुर के पूर्व विधायक पर आरोप लगाते हुए कांग्रेस विधायक ने कहा कि उन्हें सरेआम धमकियां दी जा रही है इसलिए नागर सिंह चौहान को गिरफ्तार किया जाए। जिस पर दिलासा देते हुए मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (shivraj singhh chauhan) ने कहा कि प्रदेश में विधायक किसी भी दल का हो, उसे सुरक्षा की गारंटी हमेशा सरकार की होती है।

इस मामले में कांग्रेस विधायक जीतू पटवारी (jitu patwari) ने कहा कि यह पक्ष और विपक्ष का मामला नहीं बल्कि एक आदिवासी क्षेत्र के विधायक की सुरक्षा का दायित्व है। वहीं कांग्रेस विधायक सज्जन सिंह वर्मा ने कहा कि एक महिला विधायक को जान से मारने की धमकी देना बड़ा अपराध है और पुलिस इस मामले में कुछ नहीं कर रही है।

Read More: आदिवासी विभाग के घोटालेबाजों पर जल्द होगी FIR, कलेक्टर ने लिखा पुलिस अधीक्षक को पत्र

प्रश्नकाल के दौरान कांग्रेस विधायक द्वारा आरोप लगाए गए चिटफंड कंपनी को ऑपरेटिव सोसाइटी (co-operative society) के साथ सांठ गांठ में रहती है। वहीं कांग्रेस विधायक गोविंद सिंह (govind singh) का आरोप था कि ब्याज का लालच देकर चिटफंड कंपनी लोगों से पैसे ठगती है। जिस की उच्चस्तरीय जांच होनी चाहिए। वहीं कांग्रेस विधायकों का कहना था कि राज्य स्तरीय कमेटी द्वारा चिटफंड फर्जीवाड़े कंपनी की जांच करवाई जाए। जिस पर बोलते हुए सहकारिता मंत्री अरविंद भदौरिया ने कहा कि सरकार इसके लिए गाइडलाइन बना रही है। क्योंकि सीधे तौर पर मल्टीनेशनल कंपनी पर सरकार कार्रवाई नहीं कर सकती है।

गेहूं और खाद की हेराफेरी का मामला

हालांकि प्रश्नकाल के दौरान सदन में मंदसौर और नीमच में गेहूं और खाद की हेराफेरी का मामला भी उठाया गया। मंदसौर मामले को उठाते हुए बीजेपी विधायक यशपाल सिंह सिसोदिया ने कहा कि वेयरहाउस में चौकीदार का ही बेटा ठेकेदार है जिसने यह हेराफेरी की है। जिस पर जवाब देते हुए सहकारिता मंत्री अरविंद सिंह भदोरिया ने कहा कि इस मामले में चौकीदार की संलिप्तता सामने आई है जहां ट्रांसपोर्टर के साथ मिलकर उसने चार करोड़ से ज्यादा की हेराफेरी की है। इस मामले में सहकारिता आयुक्त को एफआईआर के लिए पत्र भेज दिए हैं और जल्दी इनके खिलाफ संपत्ति कुर्क की जानकारी भी दी जाएगी।

वहीं कांग्रेस विधायक शशांक भार्गव ने सरकार पर आरोप लगाया कि खुले में पड़े रहने की वजह से 4 हजार टन गेहूं पानी में खराब हो गए हैं। आखिर इसकी भरपाई कैसे होगी जिसका जवाब देते हुए खाद्य मंत्री बिसाहूलाल सिंह ने कहा कि सरकार ने पूरा गेहूं खरीद लिया है और गेहूं खराब होने की बात गलत है।