MP: किसानों को लेकर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान का बड़ा ऐलान

शिवराज ने कहा कि कोई भी कंपनी किसानों से उसकी जमीन नहीं छीन सकती है।

सीएम शिवराज

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। मध्य प्रदेश (Madhya pradesh) में भाजपा कृषि कानूनों (Farm Laws) की सही जानकारी किसानों (Farmers) तक पहुंचाने के लिए लगातार किसान सम्मेलन कर रही है। इसी बीच कल मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने किसानों के लिए बड़ा ऐलान किया। शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि प्रदेश की कोई भी ताकत मंडी बंद नहीं कर सकती और किसान जहां चाहे वहां अपनी फसल बेच सकता है।

दरअसल जबलपुर में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (Chief Minister Shivraj Singh Chauhan) ने कहा कि 18 दिसंबर को सरकार 35 लाख किसानों के खाते में 1600 करोड़ रुपए भेजेगी। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि फसल नुकसान के सारे पैसे किसानों के खाते में डाले जाएंगे। इसके साथ ही साथ उन्होंने आश्वासन दिया है कि जिस किसान को फसल मंडी में बेचना हो। वह स्वतंत्रता के साथ बेच सकता है।

Read More: सरकारी नौकरी: MPPEB के 250 पदों पर निकली वैकेंसी को लेकर बड़ी खबर, देखे यहां

किसानों को नए कृषि कानून का लाभ समझाते हुए मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि उनकी सरकार ने मंडी टैक्स को घटाया है। जिससे मंडी की आय घटेगी लेकिन किसानों की आय में वृद्धि होगी। कॉन्ट्रैक्ट फार्मिंग (Contract farming) का जिक्र करते हुए मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि कॉन्ट्रैक्ट फार्मिंग किसानों के हित में है और इसमें किसी भी तरह की कोई खामी नहीं है। शिवराज ने कहा कि कोई भी कंपनी किसानों से उसकी जमीन नहीं छीन सकती है।

वहीं उन्होंने किसानों से अफवाह को नजरअंदाज करने की बात कही है। साथ-साथ उन्होंने पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ पर भी निशाना साधा कमलनाथ के बोलते हुए उन्होंने कहा कि आज कल कमलनाथ और दिग्गी राजा को किसान का प्रेम जगा है। वो उपवास की बात कर रहे हैं लेकिन उन्हें उपवास नहीं पश्चाताप करना चाहिए क्योंकि ना उन्होंने किसान की कर्ज माफी की और ना ही किसानों की सूची केंद्र तक भेजी थी। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि कमलनाथ आज किसानों की बात करते हैं। मैं उनसे पूछना चाहता हूँ कि जब आप मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री थे तब फसल बीमा योजना की 2,200 करोड़ की राशि का प्रीमियम क्यों जमा नहीं किया था?