MP Corona: मंत्रालय तक पहुंची कोरोना की रफ्तार, एक साथ 18 की रिपोर्ट पॉजिटिव

पिछले 24 घंटे में संक्रमण के 817 नए मामले सामने आए हैं। जो कि साल 2021 का सबसे बड़ा आंकड़ा है।

MP Corona

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। मध्यप्रदेश (madhya pradesh) में एक बार फिर से संक्रमण (Infection) की रफ्तार तेज हो गई है। लगातार बड़ी संख्या में पॉजिटिव (positive) मरीजों के आंकड़े बढ़ते जा रहे हैं। इस बीच कोरोना (corona) के कारण विधानसभा का सत्र भी अनिश्चितकालीन के लिए स्थगित कर दिया गया है। इसी बीच एक बड़ी खबर सामने आ रही है। जहां मंत्रालय (Ministry) में पदस्थ 18 कर्मचारी एक ही दिन में पॉजिटिव पाए गए हैं। इसके साथ एक बार फिर से हड़कंप की स्थिति उत्पन्न हो गई है।

दरअसल मंत्रालय कर्मचारी संघ के अध्यक्ष इंजीनियर सुधीर नायक के मुताबिक कल मंत्रालय में पदस्थ 15 कर्मचारियों की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। जिसमें संसदीय कार्य विभाग (Department of Parliamentary Affairs) में 4, वित्त विभाग (finance department) में 9, स्कूल शिक्षा विभाग (School Education Department) के 2 कर्मचारी पॉजिटिव पाए गए हैं। वही मंत्रालय में लगातार दूसरे दिन पर 3 कर्मचारियों की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। जिसके बाद मंत्रालय कर्मचारी संघ ने सुरक्षा के मद्देनजर 50 %  कर्मचारियों को ड्यूटी पर बुलाने की मांग की है। इसके लिए सामान्य प्रशासन विभाग के अपर मुख्य सचिव को ज्ञापन सौंपा गया है।

इसके बाद एक बार फिर से संक्रमण की रफ्तार को रोकने के लिए बड़े फैसले लिए जा रहे हैं। बता दें कि बजट सत्र को 10 दिन पूर्व भी स्थगित कर दिया गया है। कोरोना का संक्रमण विधानसभा तक पहुंच गया था। जहां 4 विधायकों के संक्रमित होने की खबर सामने आई थी। इसके साथ ही साथ विधानसभा के पास कर्मचारी की रिपोर्ट में पॉजिटिव आई थी।

Read More: BJP सांसद के घर के पास सिलसिलेवार बम धमाके, बोले कैलाश- हिंसा की पर्याय बन चुकी है यह पार्टी

इधर अब कोरोना की रफ्तार मंत्रालय तक पहुंच गई है। वही तेजी से बढ़े कोरोना वायरस के चलते मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने बुधवार को भोपाल, इंदौर में नाइट कर्फ्यू लगाया है। इसके साथ ही साथ 10 जिलों में रात्रि 10:00 बजे के बाद बाजार बंद करने की व्यवस्था की गई है। संक्रमण को देखते हुए विभाग द्वारा नई गाइडलाइन भी जारी किए गए हैं वहीं पिछले 24 घंटे में संक्रमण के 817 नए मामले सामने आए हैं। जो कि साल 2021 का सबसे बड़ा आंकड़ा है।

कोई गाइडलाइन के मुताबिक सार्वजनिक कार्यक्रम से पूर्व जिला प्रशासन से अनुमति लेना आवश्यक किया गया है वहीं 10 जिलों में होली और मेले इत्यादि के आयोजन प्रतिबंधित किए गए हैं। इसके साथ ही साथ भोपाल, इंदौर, ग्वालियर, जबलपुर, रतलाम, छिंदवाड़ा, बुरहानपुर, बेतूल, खरगोन और उज्जैन में होली में जुलूस मेले का आयोजन प्रतिबंधित रहेगा।

100 से अधिक व्यक्ति के किसी भी कार्यक्रम में शामिल होने से पहले पूर्व अनुमति जिला प्रशासन से लेना अनिवार्य किया गया है। इसके अलावा राजधानी भोपाल, इंदौर, ग्वालियर, जबलपुर, उज्जैन, रतलाम, छिंदवाड़ा, बेतूल, खरगोन और बुरहानपुर में मास्क का उपयोग अनिवार्य किया गया है। वहीं बिना मास्क के देखे जाने वाले व्यक्तियों पर जुर्माना की कार्रवाई की जा रही है।