MP News : सीएम शिवराज की बड़ी घोषणा ‘सभी 413 शहरों की अवैध कॉलोनियां वैध होंगी’

Mandsaur Gaurav Diwas : आज मंदसौर के गौरव दिवस पर सीएम शिवराज सिंह चौहान ने कई बड़ी घोषणाएं की। इस मौके पर उन्होने मध्यप्रदेश के 413 शहरों की पुरानी अवैध कॉलोनियों को वैध करने की घोषणा की। उन्होने कहा कि इसके लिए प्रक्रिया का सरलीकरण करते हुए नाममात्र की राशि पर ये अवैध कॉलोनियां वैध की जाएंगी। इसके लिए किसी और जटिल प्रक्रिया से नहीं गुजरना पड़ेगा। इसी के साथ उन्होने लगभग 1600 करोड़ की लागत से लाइन बिछाकर बांध से घर-घर पानी पहुंचाने की घोषणा भी की। साथ ही सीएम ने बताया कि अब किसानों को सोसाइटी से भी खाद मिलेगी। उन्होने कहा कि 20 हजार करोड़ रुपये की लागत से नगरों का विकास होगा। इसमें मंदसौर और अन्य शहरों का भी सुनियोजित विकास किया जाएगा। कार्यक्रम के शुभारंभ के अवसर पर मुख्यंत्री ने शक्ति स्वरूपा कन्याओं का पूजन कर प्रदेश एवं देश के कल्याण के लिए प्रार्थना की।

इस मौके पर मुख्यमंत्री ने शहरी तथा प्रधानमंत्री स्वनिधि योजनाओं के हितग्राहियों को हितलाभ सौंपकर शुभकामनाएं दी। सीएम शिवराज ने प्रथम चरण के 1 लाख 50 हजार हितग्राहियों को ₹150 करोड़, द्वितीय चरण के 1 लाख हितग्राहियों को 200 करोड़ व तृतीय चरण के 2371 हितग्राहियों को 50 हजार प्रति हितग्राही वितरित किया। मंदसौर में सिंगल क्लिक के माध्यम से प्रधानमंत्री आवास योजना-शहरी के ₹400 करोड़ की राशि का वितरण, ₹1925 करोड़ की लागत के 50 हजार आवासों का गृहप्रवेश व ₹1963 करोड़ की लागत से 51 हजार नवीन आवासों का भूमिपूजन किया। सीएम ने कहा कि ‘जिन भाई बहनों ने आज अपने नवनिर्मित घरों में गृहप्रवेश किया है, मैं उन्हें बधाई देता हूं।’

मंदसौर गौरव दिवस पर आयोजित कार्यक्रम के अवसर पर मंदसौर शहर पर केंद्रित कैलेंडर व मंदसौर के पुरातात्विक वैभव एवं ऐतिहासिक स्थलों को प्रदर्शित करती पुस्तक “दिव्य दशपुर” का विमोचन किया। इस मौके पर सम्राट यशोधर्मन जी की प्रतिमा का अनावरण भी किया। गौरव दिवस के अवसर पर उत्कृष्ट कार्य करने वाले, सामाजिक गतिविधियों में संलग्न व्यक्तियों को दशपुर रत्न से सम्मानित कर स्मृति चिन्ह के रूप में सम्राट यशोधर्मन की प्रतिमा की प्रतिकृति व सम्मान-पत्र भी सौंपा गया। इस अवसर पर उन्होने सभी से अपील की कि जन्मदिन, वर्षगांठ पर पेड़ लगाएं। बेटियों की इज्जत करें। पानी की एक भी बूंद व्यर्थ न जाएं, जल का सदुपयोग करे। गाँव और वार्ड का प्रत्येक बच्चा स्कूल जाए, उसमें ध्यान दें और अपने गाँव को नशामुक्त बनाएं।