mp board इंदर सिंह परमार

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट।मध्य प्रदेश (MP) के स्कूल शिक्षा राज्य मंत्री (स्वंतत्र प्रभार) इंदर सिंह परमार (Inder Singh Parmar)  का बड़ा ऐलान किया है। इंदर सिंह परमार ने कहा कि नई शिक्षा नीति (New education policy) में बदलाव के साथ प्रदेश (MP) में 10 हजार स्कूलों (School) का निर्माण करवाया जायेगा। पहले वर्ष 350 स्कूल भवनों का निर्माण होगा। शिक्षा (Education) के क्षेत्र में कला संस्कृति के सभी विषयों का समावेश कर शिक्षकों (Teacher) को प्रशिक्षित भी किया जाएगा।

यह भी पढ़े.. MP के स्कूल शिक्षा विभाग का बड़ा फैसला, नए सत्र से शिक्षकों को मिलेगी यह जिम्मेदारी

दरअसल, आज सोमवार को‘एक भारत श्रेष्ठ भारत’ की अवधारणा पर आयोजित अनुगूँज-2021 का आयोजन किया गया था। इसमें स्कूल शिक्षा मंत्री इन्दर सिंह परमार (Inder Singh Parmar) ने कार्यक्रम की अध्यक्षता और मंगलवार 16 मार्च को को मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (CM Shivraj Singh Chauhan)   समापन समारोह में मुख्य अतिथि के तौर पर शामिल होंगे।

इंदर सिंह परमार ने कहा कि राष्ट्रीय शिक्षा नीति में बदलाव होने के बाद छात्र-छात्राओं  (Student) को शिक्षा के साथ-साथ नृत्य शास्त्रीय संगीत और अन्य सांस्कृतिक गतिविधियों में सक्रिय भूमिका निभाना चाहिए। परमार शासकीय सुभाष उत्कृष्ट विद्यालय भोपाल में आयोजित अनुगूँज कार्यक्रम का शुभारंभ कर रहे थे।

इंदर सिंह परमार ने कहा कि अनूगूंज 2021 के माध्यम से शासकीय स्कूल (Government School)  के विद्यार्थियों की धारणा बदली है। आने वाले समय में नई शिक्षा नीति में कार्य कर नये संकल्प के साथ तैयार रहना चाहिए। उन्होंने कहा कि ज्ञान आधारित शिक्षा में गुणवत्ता लाने के लिए सरकार के साथ-साथ शिक्षकों और छात्र-छात्राओं के गंभीर प्रयासों की जरूरत है।

यह भी पढ़े.. शासकीय स्कूलों को लेकर मप्र स्कूल शिक्षा विभाग की नई पहल, CM भी होंगे शामिल

इंदर सिंह परमार ने कहा कि शिक्षा का उद्देश्य आदर्श समाज का निर्माण करना है। उन्होंने कहा कि इससे एक अलग बदलाव का वातावरण देखने को मिलेगा एवं एक भारत श्रेष्ठ भारत की परिकल्पना को साकार किया जाएगा।स्कूल शिक्षा विभाग द्वारा बच्चों को शिक्षा के साथ-साथ शास्त्रीय लोकनृत्य भी सिखाया जा रहा है।

इंदर सिंह परमार बताया कि अनुगूँज 2021 कार्यक्रम में 11 विद्यालयों के 400 छात्र-छात्राएँ द्वारा अपनी कला की प्रस्तुति दी जाएगी।अनुगूँज 2021 के प्रथम दिन प्रथम दिन जातक कथा पर आधारित नाटक ‘निर्द्वन्द्व’ और मणिपुरी की लोककथा का नाट्य रूपांतरण ‘मिजाओगी खोंगचट’ की आकर्षक प्रस्तुति हुई।

बता दे कि स्कूल शिक्षा विभाग (School Education Department) का ‘अनुगूँज” समारोह एक रचनात्मक प्रयास है जो विद्यार्थियों की शिक्षा (Education) के साथ-साथ उनके रचनात्मक और सर्वांगीण विकास पर केंद्रित है।

ऐसा है कार्यक्रम का पूरा शेड्यूल

  • मंगलवार को ‘धनक’ में विद्यार्थियों द्वारा नेताजी सुभाष चंद्र बोस (Netaji Subhash Chandra Bose) की 125वीं जयंती वर्ष के मौके पर आज़ाद हिन्द फौज के ‘कौमी तराने” के साथ ही हारमोनी और अन्य संगीतमय स्वर गीतों के साथ ही, वाद्य संगीत के तहत ऋतु आल्हाद की सांगीतिक प्रस्तुति की जायेगी।
  • भरतनाट्यम, ओडिसी और मयूरभंज छाऊ जैसे शास्त्रीय नृत्यों का ओजपूर्ण प्रदर्शन होगा।
  • राज्य शिक्षा केंद्र, विमर्श और जनसंपर्क के यूट्यूब चैनल के साथ सीएम मध्यप्रदेश (CMO Madhya Pradesh), जनसंपर्क (PRO) और स्कूल शिक्षा विभाग के फेसबुक (Facebook) और ट्विटर (Twitter) पेज पर भी होगा।