विपक्ष की शिवराज सरकार से मांग- महिलाओं को सरकारी नौकरी में मिले 50% आरक्षण

पीसी शर्मा (P C Sharma) ने भी कहा कि महिला कांग्रेसियों के विरोध प्रदर्शन के दौरान आज महिला दिवस के मौके पर कम से कम महिला कांग्रेसियों के खिलाफ बल प्रदर्शन नहीं किया जाना चाहिए।

MP

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। मध्यप्रदेश (madhya pradesh) में महिला दिवस (international woman day) के मौके पर शिवराज सरकार (shivraj government) ने एक नया नवाचार किया। जहां प्रदेश के हर वरिष्ठ पदों पर महिला कर्मचारी को बैठाया गया। एक तरफ जहां गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा  (narottam mishra) ने अपनी कुर्सी महिला सिपाही को दी। वहीं दूसरी तरफ मध्य प्रदेश विधान सभा (Madhya Pradesh Legislative Assembly) का संचालन भी महिला सदस्य द्वारा किया जा रहा है।

हालांकि सदन की कार्रवाई के दौरान विपक्ष ने महिला दिवस के मौके पर महिलाओं के लिए बड़ी मांग की है। विपक्ष ने सरकार से महिलाओं को सरकारी नौकरी में 50 प्रतिशत आरक्षण देने की मांग की है। इस मांग को सामने रखते हुए पूर्व मंत्री सज्जन सिंह वर्मा (sajjan singh verma) ने कहा किसी राज सरकार को सरकारी नौकरी में महिलाओं के लिए 50% आरक्षण दिए जाने की घोषणा करनी चाहिए।

Read More: Ujjain News: शिप्रा नदी में हो रहे धमाके, जांच टीम ने किया क्षेत्र का निरीक्षण, जल्द आएगी रिपोर्ट

वहीं कांग्रेस की तरफ से पीसी शर्मा (P C Sharma) ने भी कहा कि महिला कांग्रेसियों के विरोध प्रदर्शन के दौरान आज महिला दिवस के मौके पर कम से कम महिला कांग्रेसियों के खिलाफ बल प्रदर्शन नहीं किया जाना चाहिए। महिला कांग्रेस प्रदेश में बढ़ते अपराध और भ्रष्टाचार के खिलाफ पैदल मार्च कर रही हैं जिसका उन्हें हक है।

हालांकि इस दौरान प्रदेश के गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने कांग्रेस विधायक और कांग्रेस पर तंज कसा है। नरोत्तम मिश्रा ने कहा कि महिला दिवस के मौके पर भी कांग्रेस महिलाओं को सड़कों पर उतार रही है। ऐसे में कांग्रेस को एक बार पुनर्विचार की जरूरत है। नरोत्तम मिश्रा ने कहा कि कांग्रेस को समझना चाहिए था कि कम से कम महिला दिवस के मौके पर महिलाओं को सड़क पर ना उतारा जाए लेकिन जिस पार्टी की विचारधारा ही पश्चिम संस्कृति की रही हो उससे उम्मीद करना व्यर्थ है।