राशन नहीं मिलने से परेशान लोगों ने किया चक्का जाम, बुजुर्ग महिलाएं हाथ में कार्ड लेकर मांग रहीं राशन

ग्वालियर।अतुल सक्सेना

कोरोना संकट में भले ही सरकार सभी तरह के राशन कार्ड धारकों को राशन देने के दावे कर रही है लेकिन इसकी जमीनी हकीकत कुछ और है। आज भी सफेद राशन कार्ड वाले लोग राशन के लिए परेशान हैं। दुकान के सामने घंटों लाइन में लगे होने के बाद जब नंबर आता है तो दुकानदार कोई कमी निकालकर भगा देता है। परेशान लोगों ने इसी बात को लेकर आज चक्का जाम कर दिया।

वार्ड क्रमांक 31 में आने वाले लक्षमणपुरा के लोगों ने आज सड़क पर हंगामा कर दिया। राशन नहीं मिलने से परेशान ये लोग पड़ाव थाने से कुछ दूरी पर सड़क पर ही धरने पर बैठ गए। चक्का जाम में शामिल टीपू सुल्तान और रेखा जैन का कहना था कि तानसेन नगर स्थित राशन की दुकान के बाहर दो दो घंटे तक हम लोग बैठते हैं। लेकिन जब नंबर आता है तो दुकानदार भगा देता है। कहता है इसपर सील लगवा कर लाओ और जब हम सील लगवाने नगर निगम कार्यालय जाते हैं तो वो बिना सील लगाए भगा देते हैं पिछले एक महीने से ये सिलसिला जारी है।

इसलिए आज सड़क पर उतरे हैं। तपती धूप में नौजवानों के साथ बूढ़ी महिलाएं भी हाथ में राशन कार्ड लिए सड़क पर बैठी थी। चक्का जाम की सूचना पर पड़ाव थाने की पुलिस ने मौके पर पहुंचकर लोगों की समझाया कि धारा 144 लगी है इसलिए हट जाये। वरना सभी के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया जायेगा। परेशान लोगों ने पुलिस की बात मान ली और सड़क खाली कर दी। उधर पुलिस अधिकारी ने बताया कि एसडीएम से बात कर उनके कहने पर सभी की सूची ले ली गई है । आगे जैसा प्रशासन कहेगा वैसे व्यवस्था की जायेगी। वहीं नाराज लोगों ने चेतावनी दी है कि यदि सूची लेने के बाद घर पर राशन नहीं आया तो फिर सड़क पर उतरेंगे।