मध्यप्रदेश में अब गुंडे-बदमाशों का जुलूस नहीं निकाल पाएगी पुलिस, PHQ ने दिए सख्त निर्देश

पुलिस मुख्यालय ने निर्देश जारी कर कहा है कि अब जुलूस निकालने पर रोक लगा दी गई है। आरोपी, संदेही और गिरफ्तार लोगों को पुलिस सार्वजनिक नहीं करेगी।

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट| मध्य प्रदेश (Madhyapradesh) में पुलिस (Police) अब गुंडे, बदमाश, अपराधियों का जुलूस नहीं निकाल पाएगी| एक के बाद एक लगातार अलग अलग जिलों में आरोपियों का सड़क पर पीटते हुए जुलूस निकालने के वीडियो रोजाना वायरल हो रहे हैं| इस बीच पुलिस मुख्यालय (Police Headquarter) ने सभी पुलिस जोन के आईजी, डीआईजी और पुलिस अधीक्षकों को निर्देश जारी कर कहा है कि अपराधी का जुलूस नहीं निकाला जाए|

पुलिस मुख्यालय ने निर्देश जारी कर कहा है कि अब जुलूस निकालने पर रोक लगा दी गई है। आरोपी, संदेही और गिरफ्तार लोगों को पुलिस सार्वजनिक नहीं करेगी। सभी पुलिस अधीक्षकों को इस आदेश का कड़ाई से पालन करना होगा। पुलिस मुख्यालय ने तय किया है कि किसी भी अपराधी को पुलिस हिरासत में लेने के बाद उसकी जनता के बीच में परेड नहीं कराई जाएगी। जनता के बीच में अपराधी या बदमाश की परेड नहीं कराने का आदेश पुलिस मुख्यालय की सीआईडी शाखा के एडीजी कैलाश मकवाना ने दिए हैं।

दरअसल, जब भी किसी बड़ी वारदात, हमले, लूट, छेड़छाड़ के मामले में आरोपी की गिरफ्तारी होती है, तो बदमाशों में कानून का खौफ और उन्हें सबक सिखाने पुलिस अक्सर सड़क पर आरोपियों का जुलूस निकालती है| लेकिन अब ऐसा नहीं होगा| पिछले दिनों हाई कोर्ट ने एक फैसला सुनाते हुए पुलिस को आरोपियों और संदिग्धों के फोटो जारी करने से रोक लगा दी थी। इसके बाद से मध्यप्रदेश में पुलिस ने सार्वजनिक रूप से आरोपी, संदेही और गिरफ्तार लोगों के फोटो देना बंद कर दिया।

MP Breaking News

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here