भोपाल।

मध्यप्रदेश में कोरोना(corona) संक्रमण के बीच राज्यसभा चुनाव(rajyasabha election) को लेकर हलचल तेज हो गयी है। जहाँ बीजेपी(BJP) अपने रणनीतियों(Strategies) पर कार्य कर रही है। वही कांग्रेस(congress) ने अपने गतिविधियों से मौके को भुनाना भी शुरू कर दिया है। इसी बीच 19 तारीख को होने वाले चुनाव के कैंपन(campaign) में कांग्रेस उम्मीदवार दिग्विजय सिंह(Digvijay singh) ने रणनीतियों को अंजाम देना भी शुरू कर दिया है। उन्होंने राज्यसभा चुनाव में कांग्रेस के लिए बसपा(BSP) के विधायकों(MLAs) का समर्थन माँगा है। इस राज्यसभा चुनाव में सबकी नजर बसपा, सपा और निर्दलीय विधायक पर लगी हुई है।

दरअसल बुधवार को एक मीडिया चैनल से बात करते हुए बसपा विधायक संजीव कुशवाहा(sanjeev kushwaha) ने खुलासा किया है कि कांग्रेस के दिग्गज नेता और राज्यसभा उम्मीदवार दिग्विजय सिंह ने उनसे संपर्क स्थापित कि थी। फोन के जरिये हुई बातचीत में दिग्विजय सिंह ने बसपा से राज्यसभा चुनाव को लेकर समर्थन माँगा है। जबकि बीजेपी के तरफ से अभी तक इन पार्टियों से कोई बात नहीं की गयी है। संजीव कुशवाहा ने कहा कि दिग्विजय सिंह ने समर्थन मांगा है। लेकिन यह पार्टी तय करेगी कि समर्थन किसे देना है। जबकि बीजेपी ने कोई संपर्क नहीं किया है। उन्होंने कहा कि बीजेपी के नेता ने राज्यसभा चुनाव को लेकर बात नहीं कि है। वहीँ उन्होंने स्पष्ट किया है कि अभी हम सरकार के साथ खड़े हैं।

बता दें कि एमपी से भी राज्यसभा के 3 सीट खाली हैं। इन सीटों पर 19 जून को वोटिंग होगी। तारीखों की घोषणा के साथ ही उपचुनाव में जुटी पार्टियां अब राज्यसभा चुनाव की तैयारी में जुट जाएंगी। 3 सीटों में से पूर्व में 2 बीजेपी के खाते में थे। वर्तमान में स्थिति में बीजेपी और कांग्रेस के खाते में एक-एक सीट जाती दिख रही हैं। राज्यसभा की जो 3 सीटें खाली हुई हैं, उनमें 2 पर बीजेपी से प्रभात झा और सत्यनारायण जटिया काबिज थे। वहीं, कांग्रेस से दिग्विजय सिंह थे। इधर विधानसभा सचिवालय ने वोटिंग की तैयारी शुरू कर दी है। चुनाव के दौरान सोशल डिस्टेंसिंग का भी पालन किया जाएगा। वहीं, वोटिंग के बाद उसी दिन वोटों की गिनती होगी। उसके बाद परिणाम घोषित कर दिया जाएगा।