रिटायर आईएएस ने प्रधानमंत्री पर की अपमानजनक टिप्पणी, पुलिस में हुई शिकायत

मोदी सरकार
PM MODI

ग्वालियर डेस्क रिपोर्ट।अतुल सक्सेना- मध्य प्रदेश कैडर के रिटायर आईएएस अधिकारी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को लेकर सोशल मीडिया पर विवादित पोस्ट किया. इस पोस्ट के बाद बीजेपी के नेता भड़क उठे और बाकायदा पुलिस में इसकी शिकायत की गई। विवाद बढ़ता देख पोस्ट तो हटा ली गई लेकिन तब तक इस पर कई टिप्पणियां आ चुकी थी ।

सीएम शिवराज सिंह बोले- क्राइसेस मैनेजमेंट ग्रुप और प्रशासन लेंगे कोरोना कर्फ्यू का फैसला

अपने बयानों को लेकर चर्चा में रहने वाले रिटायर्ड आईएएस अखिलेंद्र अरजरिया ने सोशल मीडिया पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को लेकर विवादित टिप्पणी कर दी। उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का फोटो एडिट करके उन्हें आसाराम के साथ खड़ा किया और उसमें लिखा कि “पड़ोस में रहने वाले चाचा टीवी देखते हुए पूछने लगे, बेटा यह आसाराम कब जेल से छूट गया। बड़ी मुश्किल से उन्हें यकीन दिलाया चाचा यह आसाराम नहीं झांसा राम है।” रिटायर्ड आईएएस की इस पोस्ट के मामले में एसपी को लिखित शिकायत बीजेपी नेता यश शर्मा ने की ।हालांकि सोमवार को यह पोस्ट अपलोड करने के बाद जैसे ही कमेंट आने चालू हुए, अखिलेंद्र अरजरिया ने इस पोस्ट को हटा लिया। इस पूरे मामले की शिकायत एसपी अमित सांघी से की गई है ।शिकायत में कहा गया है कि सोशल मीडिया के एक प्लेटफार्म पर रिटायर्ड आईएएस अखिलेंद्र अरजरिया ने ऐसी पोस्ट जिसके एक भाग में पूर्व कथावाचक आसाराम बापू और अगले भाग में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का एक जैसा हुलिया बताते हुए प्रधानमंत्री को झांसा राम लिखा गया है ।साथ ही उन्हें देश में झांसे डालने जैसे शब्दों का प्रयोग किया गया है ।जिस आसाराम के साथ उनका नाम जोड़ा गया है, उस पर दुष्कर्म और हत्या जैसे जुर्म का आरोप है जिससे प्रधानमंत्री जैसे गरिमामयी पद की छवि धूमिल हुई है। इसलिए उनके ऊपर कड़ी कार्रवाई की जानी चाहिए ।

केंद्रीय कर्मियों के लिए अच्छी खबर, DA को लेकर आई खुशखबरी

हालाकि रिटायर्ड आईएएस ने जब सोशल मीडिया पर इस मामले में धमाल होते देखा तो उन्होंने अपना पोस्ट हटा लिया। लेकिन तब तक यह हजारों लोगों के बीच वायरल हो गया था। बाद में अपना पक्ष रखते हुए रिटायर्ड आईएएस ने कहा कि मेरा मकसद किसी भी व्यक्ति को ठेस पहुंचाना नहीं था लेकिन जैसे ही मुझे अपनी गलती का एहसास हुआ तो मैंने वह पोस्ट हटा दी और मुझे इसका खेद है। एसपी ने कहा है कि इस मामले में चूकि रिटायर्ड आईएएस ने खेद जता दिया है इसीलिए अब मामले में कुछ ज्यादा नहीं बचता है।

post
post
Post 1
Post 1