सफाईकर्मी की माँ से बोले शिवराज के मंत्री- माताजी खाना मिलेगा, सुबह से भूखा हूँ

ग्वालियर, अतुल सक्सेना। अपनी अलग कार्यशैली से अलग पहचान बना चुके प्रदेश के ऊर्जा मंत्री, ज्योतिरादित्य सिंधिया समर्थक नेता प्रद्युम्न सिंह तोमर (Pradyuman Singh Tomar ) ने आज फिर एक मिसाल पेश की है, उन्होंने अपनी विधानसभा क्षेत्र के भ्रमण के दौरान एक सफाईकर्मी की माँ के दरवाजे पर बैठकर कहा, माताजी सुबह से घर से निकला हूँ कुछ खाने को मिलेगा? इतना ही नहीं उन्होंने महिला की विधवा पेंशन भी मौके पर ही शुरू करवा दी।

शौचालय साफ कर, नाले, सड़क की सफाई कर चर्चा में आये ज्योतिरादित्य सिंधिया समर्थक नेता और शिवराज सरकार के ऊर्जा मंत्री प्रद्युम्न सिंह तोमर (Pradyuman Singh Tomar ) को हाल ही में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (CM Shivraj Singh Chauhan) की शाबासी मिली है। इसकी वजह ये है कि वे अपने विभाग के उपभोक्ता के घर जाकर खुद मीटर की रीडिंग और बिलों का अंतर देखते हैं, उसकी परेशानी पूछते है और मौके पर ही निराकरण करते हैं। नतीजा ये हुआ कि बिजली विभाग में कसावट आ गई और लोगों की समस्या का तत्काल निराकरण होने लगा।

लगभग एक पखवाड़े के बाद शनिवार को ऊर्जा मंत्री प्रद्युम्न सिंह तोमर (Pradyuman Singh Tomar ) ग्वालियर लौटे। आदत के मुताबिक मंत्री जी सुबह सुबह अपनी विधानसभा क्षेत्र के भ्रमण पर निकल गए। वे वार्ड 15 के श्रीकृष्ण नगर में पहुंचे तो बाल्मीकि समाज के श्यामवीर बाल्मीकि के घर के दरवाजे पर बैठ गए और सफाईकर्मी की विधवा माँ से पूछा माताजी मैं सुबह से घर से दौरे पर निकला हूँ कुछ खाने को मिलेगा क्या? मंत्री की बात सुनकर बुजुर्ग माँ बड़े प्यार से खाने की थाली परोस लाई और ऊर्जा मंत्री प्रद्युम्न सिंह तोमर (Pradyuman Singh Tomar ) ने उसकी देहरी पर जमीन पर बैठकर खाना खाया। उन्होंने जब बुजुर्ग विधवा माँ से पेंशन के बारे में पूछा तो उन्होंने कहा कि नहीं मिलती, इतना सुनते ही ऊर्जा मंत्री प्रद्युम्न सिंह तोमर ने प्रशासन के अधिकारियों को निर्देश देकर तत्काल बुजुर्ग की विधवा पेंशन शुरू करवाई। मंत्री के इस सहज और सरल स्वभाव की एक फिर चर्चा शहर में हो रही है।

सफाईकर्मी की माँ से बोले शिवराज के मंत्री- माताजी खाना मिलेगा, सुबह से भूखा हूँ