इमरती देवी

भोपाल, डेस्क रिपोर्टभोपाल, डेस्क रिपोर्ट  मध्य प्रदेश उपचुनाव (Madhya pradesh By-election) में कांग्रेस (congress) को भले ही करारी हार का सामना करना पड़ा हो लेकिन कुछ सीटों पर भाजपा (BJP) के चर्चित मंत्री और ग्वालिय- चंबल (Gwalior-chambal) में बीजेपी नेताओं की हार ने कांग्रेस को तंज कसने का मौका दे दिया है। इसी बीच उपचुनाव के बाद भी मध्यप्रदेश में वाद-विवाद का सिलसिला जारी है। जहां एक बार फिर से कांग्रेस नेता ने बीजेपी मंत्री इमरती देवी (Imarti Devi) को लेकर बेतुके बयान दिए हैं। कांग्रेस नेता सज्जन सिंह वर्मा (Sajjan singh verma) ने इमरती देवी के उपचुनाव हारने पर सवाल उठाए हैं।

दरअसल पूर्व मंत्री और कांग्रेस नेता सज्जन सिंह वर्मा मीडिया (Media) से चर्चा कर रहे थे। जहां एक सवाल के जवाब में सज्जन सिंह वर्मा ने कहा कि अगर वाकई “आइटम” वाले बयान से कांग्रेस को चुनाव में नुकसान हुआ है तो इमरती देवी खुद चुनाव क्यों हार गई। सज्जन सिंह वर्मा ने कहा कि अब वह इमरती से “जलेबी” बन गई है।

Read More: शिवराज सरकार की बड़ी घोषणा, कहा- 4 वर्षों में यह कार्य करने वाला पहला राज्य बनेगा मध्य प्रदेश

बता दे कि उपचुनाव के दौरान ग्वालियर की डबरा सीट से भाजपा प्रत्याशी इमरती देवी कांग्रेस प्रत्याशी सुरेश राजे से करीबन 5000 वोटों से चुनाव हार गई है। वही उपचुनाव में कमलनाथ के इमरती देवी को लेकर “आइटम” वाले बयान पर काफी चर्चाएं हुई थी। जिसके बाद मीडिया में यह सवाल लगातार चल रहा था कि क्या कमलनाथ के “आइटम” वाले बयान के बाद कांग्रेस को प्रदेश में नुकसान उठाना पड़ा है। मीडिया के इस सवाल का जवाब देते हुए अब पूर्व मंत्री सज्जन सिंह वर्मा ने इमरती देवी को “जलेबी” बताया है।

अब सज्जन सिंह वर्मा के इस बयान के बाद मुमकिन है कि एक बार फिर से मध्य प्रदेश की सियासी हवा बदल सकती है वहीं इससे पहले सज्जन सिंह वर्मा ने उपचुनाव में ईवीएम पर भी सवाल खड़े किए थे। उन्होंने कहा था कि उन्हें कई कंपनियों ने ईवीएम हैक कर विधानसभा उपचुनाव जिताने का ऑफर दिया था लेकिन कांग्रेस अपनी विचारधारा के लिए जानी जाती है। इसलिए कांग्रेस ने कंपनियों के इस ऑफर को ठुकरा दिया था।