गरीबों का ‘रॉबिन हुड’ बना मप्र का यह बीजेपी नेता

शिवपुरी, मोनू प्रधान। समाज सेवा की बातें तो हर नेता करके राजनीति (Politics) मे आता है लेकिन उसे अमल में लाने का काम विरली शख्सियत ही करती है।ऐसा ही एक अद्भुत व्यक्तित्व है शिवपुरी जिले के निवासी और बीजेपी प्रदेश कार्यसमिति के सदस्य सुरेंद्र शर्मा (BJP state working committee member Surendra Sharma) ।

दरअसल,  शिवपुरी जिले (Shivpuri district) में सुरेंद्र शर्मा ने चिटफंड कंपनियों  (Chit fund companies) के खिलाफ मुहिम छेड़ी जो भोले भाले गरीब लोगों का पैसा लेकर वापस नहीं लौटी थी ।इनमें कई गरीब ,लाचार बीमार, विकलांग ऐसे भी थे जिन्होंने जिंदगी भर की पूंजी चिटफंड कंपनियों में लगा दी ताकि उनको भविष्य में कुछ अच्छा फल मिल पाये।लेकिन कंपनियो के चक्कर लगाने की लगा लगा दम निकल गयी पर पैसा वापस नहीं हुआ। ऐसे में इन कंपनियों के खिलाफ बीड़ा उठाया सुरेंद्र शर्मा ने। उन्होंने लगातार प्रधानमंत्री मुख्यमंत्री से लेकर अधिकारियों तक इस शिकायत को पहुंचाया। जहां पुलिस प्रशासन मुख्यमंत्री के निर्देशों के बावजूद लगातार इस मामले मे अनदेखी कर रहा था लेकिन शिकायतकर्ता की शिकायत पर कार्रवाई नहीं कर रहा था और इसका बड़ा कारण चिटफंड कंपनियों के प्रभावशाली व्यक्तियों का दवाब था।लेकिन सुरेंद्र शर्मा ने हार मानी और वे लगातार इस प्रयास में लगे रहे हैं कि जैसे तैसे गरीबों का पैसा वापस मिल पाए।

सुरेंद्र शर्मा की मेहनत रंग लाई और शुक्रवार को कोतवाली शिवपुरी मे सहारा इन्डिया के मालिक सहित अन्य लोगो के खिलाफ धोखा देने का मामला दर्ज किया गया है। उम्मीद है कि इससे गरीबों का पैसा वापस मिलेगा क्योकि जहा जहा इस कंपनी के खिलाफ एफआईआर हुई है, पैसा मिलना शुरू हो गया है।लेकिन अभी भी अकेले करैरा शिवपुरी मे गरीबों का 40 करोड़ से ज्यादा फंसा हुआ है पर एसडीओपी शिकायत के बाद भी शिकायतकर्ता की एफ आई आर दर्ज नहीं कर रहे हैं।