उत्तराखंड : हरिद्वार और रूड़की के रेलवे स्टेशन उड़ाने की धमकी, धमकी के बाद अलर्ट पर प्रशासन

पुलिस के मुताबिक, इससे पहले भी इस तरह की धमकियां मिली है, लेकिन पुलिस इसे हल्के में नहीं लेगी। पुलिस ने मामले को संज्ञान में लेकर पत्र भेजने वाले की जांच पड़ताल में शुरू कर दी है, वहीं धमकी के बाद उत्तराखंड और यूपी के रेलवे स्टेशनों पर सुरक्षा बढ़ा दी गई है।

नई दिल्ली, डेस्क रिपोर्ट। रुड़की रेलवे स्टेशन अधीक्षक को टूटी-फूटी हिंदी में लिखा हुआ धमकी भरा पत्र मिलने के बाद से इलाके में अफरा-तफरी मच गई गई है। चिट्ठी लिखने वाले ने खुद को जैश-ए-मोहम्मद का एरिया कमांडर सलीम अंसारी बताकर लक्सर, नजीबाबाद, देहरादून, रुड़की, ऋषिकेश, हरिद्वार रेलवे स्टेशन के साथ-साथ हरिद्वार के धार्मिक स्थलों को भी बम से उड़ाने की धमकी दी है। संबंधित पत्र में उत्तराखंड के मुख्यमंत्री धामी का भी जिक्र किया गया है। पुलिस के मुताबिक, इससे पहले भी इस तरह की धमकियां मिली है, लेकिन पुलिस इसे हल्के में नहीं लेगी। पुलिस ने मामले को संज्ञान में लेकर पत्र भेजने वाले की जांच पड़ताल में शुरू कर दी है, वहीं धमकी के बाद उत्तराखंड और यूपी के रेलवे स्टेशनों पर सुरक्षा बढ़ा दी गई है।

उत्तराखंड के DGP अशोक कुमार ने कहा, “पुलिस पूर्व में मिले इस तरह के धमकी भरे पत्रों की हैंडराइटिंग मिलान कर रही है। हालांकि पहले मिले पत्रों की तरह यह किसी की शरारत भी हो सकती है, लेकिन मामला संवेदनशील होने के चलते पुलिस अलर्ट पर है। अप्रैल 2019 में इसी तरह का एक पत्र रुड़की रेलवे स्टेशन अधीक्षक को मिला था, जिसमें 13 मई को रेलवे स्टेशनों पर धमाके किए जाने की धमकी दी गई थी। उसके बाद रेलवे स्टेशन और आसपास के क्षेत्रों की सुरक्षा बढ़ा दी गई थी।”

यह भी पढ़े … 26/11 के आतंकी हमले के खिलाफ ढाल बने जाबांज सैनिक की कहानी है फिल्म मेजर, ट्रेलर देख कर पड़ेंगे शहीद को सलाम

उन्होंने आगे कहा, ” मानसिक रूप से विक्षिप्त व्यक्ति पिछले 20 साल से इस तरह के धमकी भरे पत्र भेज रहा है, फिर भी एहतियात बरती जा रही है।”

रेलवे स्टेशनों पर शुरू हुआ चेकिंग अभियान

धमकी मिलने के बाद से प्रशासन सतर्क हो गया है और रेलवे स्टेशन पर चेकिंग बढ़ा दी गई है। लक्सर स्टेशन अधीक्षक अरुण कुमार का कहना है कि रेल प्रशासन पूरी सतर्कता बरत रहा है।

उधर,लक्सर, रुड़की रेलवे स्टेशनों पर डॉग स्क्वॉड और बम निरोधक दस्ते द्वारा भी चेकिंग की गई। हालांकि कोई संदिग्ध वस्तु या व्यक्ति नहीं मिला है।

यह भी पढ़े …घमासान के बाद साइट से लौटा बुलडोजर, सुप्रीम कोर्ट में 2 बजे सुनवाई