खुद को भाजपा के वरिष्ठ नेता का खास कहने वाला परिवहन निरीक्षक लूपलाइन भेजा गया

विभाग ने मंगलवार को तबादला सूची  जारी की जिसमें  21 अधिकारी और कर्मचारियों को यहाँ से वहां किया गया है. इसी सूची में डीपी पटेल को परिवहन मुख्यालय भेजा गया है। 

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। आखिरकार ट्रांसपोर्टरों की एकजुटता काम आई और मुख्यमंत्री, मुख्य सचिव तक पहुंची शिकायत के बाद सेंधवा चेक पोस्ट पर पदस्थ परिवहन निरीक्षक डीपी पटेल का ट्रांसफर कर दिया गया है। परिवहन  विभाग ने मंगलवार को तबादला सूची जारी की जिसमें डीपी पटेल को परिवहन विभाग के मुख्यालय ग्वालियर  भेजा गया है। उनकी जगह चेक पोस्ट खवासा पर पदस्थ वीरेश कुमार तुमराम को चेक पोस्ट सेंधवा और निवाली का प्रभारी बनाया गया है।
एमपी ब्रेकिंग न्यूज़ की खबर का एक बार फिर असर हुआ है। परिवहन विभाग ने भ्र्ष्टाचार और अवैध वसूली का केंद्र  बन चुकी सेंधवा चेक पोस्ट के प्रभारी डीपी पटेल का तबादला कर दिया है , विभाग ने मंगलवार को तबादला सूची  जारी की जिसमें  21 अधिकारी और कर्मचारियों को यहाँ से वहां किया गया है. इसी सूची में डीपी पटेल को परिवहन मुख्यालय भेजा गया है।  गौरतलब है कि मध्यप्रदेश के बड़वानी जिले की सेंधवा चेक पोस्ट पर हो रहे भ्रष्टाचार और ट्रक वालों से अवैध वसूली के मामले लगातार सामने आ रहे थे।  ट्रक चालक से लेकर ट्रक ऑपरेटर यूनियन के लोग भी चेक पोस्ट प्रभारी डीपी पटेल परिवहन निरीक्षक की मनमानी से परेशान थे।  लगातार शिकायतों के बाद आखिरकार मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने शिकायत को गंभीरता से लेते हुए पिछले दिनों जांच के आदेश दिए हैं ,  जिसके बाद परिवहन आयुक्त मुकेश जैन ने परिवहन निरीक्षक डीपी पटेल को सेंधवा चेक पोस्ट से हटा दिया। यहाँ बता दें कि  इंदौर ट्रक ऑपरेटर एवं ट्रांसपोर्ट एसोसिएशन के अध्यक्ष सीएल मुकाती ने मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के नाम शिकायत भेजी थी। एमपी ब्रेकिंग न्यूज़ ने इस मामले में लगातार खबरे अपने पोर्टल पर चलाई है जिसका ये असर हुआ है।

ट्रक एसोसिएशन ने  शिकायत में कहा था  कि मध्यप्रदेश की परिवहन चैक पोस्टों पर अवैध वसूली बढ़ चुकी है। इतना ही नहीं चैक पोस्टों पर अब चालकों के साथ अभद्रता और मारपीट तक की जा रही है। एसोसिएशन ने कहा कि सबसे ज्यादा अवैध वसूली बड़वानी के बालसमंद (सेंधवा ) परिवहन चैक पोस्ट पर होती है। इस चैक पोस्ट के प्रभारी डीपी पटेल एवं वहां कार्यरत राहुल कुशवाह द्वारा चालकों को परिवहन नियमों और वर्दी का डर  और भाजपा के एक बड़े नेता का रौब  दिखाकर परेशान किया जाता है और डरा धमकाकर अवैध वसूली की जाती है।

खुद को भाजपा के वरिष्ठ नेता का खास कहने वाला परिवहन निरीक्षक लूपलाइन भेजा गया खुद को भाजपा के वरिष्ठ नेता का खास कहने वाला परिवहन निरीक्षक लूपलाइन भेजा गया