ग्रामीणों का तुगलकी फरमान, पत्नी के कंधे पर पति को बैठाकर निकाला जुलूस, मामला दर्ज

झाबुआ,डेस्क रिपोर्ट

एक तरफ जहां महिला सशक्तिकरण और महिलाओं की स्थिति को बढ़ावा देने के लिए बड़े-बड़े दावे हो रहे हैं। वहीं दूसरी तरफ मध्य प्रदेश से एक शर्मसार कर देने वाली घटना सामने आई है। जहां एक महिला को ग्रामीणों द्वारा एक विचित्र फरमान सुनाते हुए अपने पति को अपने सर पर बैठा कर पूरे गांव में घूमने की सजा दे दी गई। बाद में मामले की जांच करते हुए पुलिस ने 7 ग्रामीणों के खिलाफ मामला दर्ज किया है।

दरअसल मामला झाबुआ जिले का है। जहां एक पति को शक हुआ कि उसकी पत्नी किसी और से प्रेम करती है। जिसके बाद ग्रामीणों ने स्त्री को सजा देते हुए यह फरमान सुनाया था। वायरल वीडियो में देखा जा सकता है कि लोग महिला को धक्का भी दे रहे हैं। उसे मजबूर किया जा रहा है कि वह पति को कंधे पर बैठाकर घुमाए। हालांकि बुधवार को सोशल मीडिया पर वीडियो वायरल होने के बाद पुलिस हरकत में आई। वही मामले की जांच होने पर टीआई ने बताया कि पति-पत्नी रविवार को गुजरात से मजदूरी करके लौटे थे। गुजरात में उनके साथ होने के जिले का एक अन्य युवक भी था। जिसे बात पति को शंका हो गई कि उसकी पत्नी का इस युवक के साथ प्रेम संबंध चल रहा है। पति की शिकायत है कि पत्नी और युवक मेलजोल भी करते थे। जिसके बाद पत्नी और बच्चे को लेकर पति गांव आ गया।

चौकी प्रभारी ने स्पष्ट किया है कि इन लोगों के शादी के 7 वर्ष हो चुके हैं। और उनके तीन बच्चे भी हैं। वहीं थाना प्रभारी सुरेंद्र सिंह ने बताया कि पीड़िता का बयान दर्ज कर मामले की जांच शुरू कर दी गई। वही पारा चौकी प्रभारी केशव सिंह पांडव ने बताया कि घटना सोमवार की है। हालांकि इस मामले में किसी ने रिपोर्ट दर्ज नहीं करवाई है। ज्ञात हो कि इससे पहले पिछले माह कल्याणपुर पुलिस थाने में एक महिला के साथ गांव वाले ने इसी तरह अमानवीय व्यवहार करते हुए शर्मसार करने वाली सजा सुनाई थी।