करंट से दो बच्चों की मौत, पुलिस ने FIR में की देरी, परिजनों ने घेरा थाना

दोनों बच्चे मनीष और गणेश खेत में पहुंच गए और खेत में पड़े बिजली के तार की चपेट में आ गए जिससे उनकी मौत हो गई। 

डबरा , सलिल श्रीवास्तव। ग्वालियर जिले के गिजौर्रा थाना क्षेत्र के गुंझार गाँव में आज दो मासूम (Innocent) बच्चों की करंट (Current) लगने से मौत (Death) हो गई। बच्चे मटर के खेत में खेलते हुए पहुँच गए थे, इस दौरान हादसे का शिकार हो गए परिजन शव लेकर डबरा सिविल अस्पताल (Dabra Civil Hospital) पहुंचे जहां डॉक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया। घटना के बाद परिजन डबरा थाने पहुंचे और मामला दर्ज करने की गुहार लगाई लेकिन पुलिस ने उनकी एफआईआर लिखने में बहुत देरी की जिससे नाराज  परिजनों ने थाने का घेराव कर दिया।

जानकारी के अनुसार ये हृदय विदारक घटना गिजौर्रा थाना क्षेत्र के गुंझार गांव में उस समय घटी जब ईट भट्टों पर काम करने वाले राममिलन केवट ईट बनाने में व्यस्त थे। इसी दौरान उनके दोनों बच्चे मनीष (4 वर्ष) और गणेश (8 वर्ष)  खेत में पहुंच गए और खेत में पड़े बिजली के तार की चपेट में आ गए जिससे उनकी मौत हो गई।  घटना के बाद परिजन डबरा सिटी थाने पहुंचे और मामला दर्ज करने की मांग करने लगे इस दौरान वह कई घंटे तक अपनी बात कहने के लिए थाना प्रभारी से गुहार लगाते दिखे थाना प्रभारी अपने बंगले के बाहर बैठकर ही उनसे बात करते रहे परिजनों को बार-बार अपनी फरियाद लेकर उनके पास जाना पड़ा इस दौरान गिजौर्रा थाना प्रभारी शक्ति यादव डबरा सिटी थाने पहुंचे और मृतक के परिजनों को समझाया और मामला दर्ज कर दिया तब जाकर परिजन थाने से गए।इस घटना को देखकर समझा जा  सकता है कि ग्वालियर जिले की पुलिस मासूमों की मौत जैसे सम्वेदनशील विषय पर कितनी गंभीर है।