केंद्रीय मंत्री ने सज्जन वर्मा को दिया करारा जवाब, सिंधिया-शिवराज को लेकर बड़ा बयान

शिवराज सिंह चौहान मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री हैं और उनके नेतृत्व में सरकार अच्छा काम कर रही है।

ग्वालियर, अतुल सक्सेना। केंद्रीय कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर (Narendra Singh Tomar) ने कांग्रेस नेता पूर्व मंत्री सज्जन सिंह वर्मा (Sajjan Singh Varma) को करारा जवाब देते हुए कहा है कि लोकतंत्र में सपने देखने की किसी को मना नहीं है। शिवराज जी (Shivraj Singh Chauhan) मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री है और उनके नेतृत्व में सरकार अच्छा काम कर रही है।

केंद्रीय नागरिक उड्डयन मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया (Jyotiraditya Scindia) के साथ मौजूद रहने केंद्रीय कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर मंगलवार रात राजधानी एक्सप्रेस से ग्वालियर (Gwalior) पहुंचे। रेलवे स्टेशन पर ग्वालियर के प्रभारी मंत्री तुलसीराम सिलावट (Tulsiram Silawat) और ऊर्जा मंत्री  प्रद्युम्न सिंह तोमर (Pradyuman Singh Tomar) ने उनकी अगवानी की। भाजपा नेताओं ने कृषि मंत्री का जोरदार स्वागत किया।

ये भी पढ़ें – नरोत्तम-अजय सिंह की मुलाकात के बाद सियासी हलचल तेज, गोविन्द राजपूत बोले- स्वागत है

मीडिया से बात करते हुए कृषि मंत्री ने सिंधिया के भव्य स्वागत की तैयारियों पर जवाब देते हुए कहा कि सिंधिया जी मंत्री बनने के बाद पहली बार ग्वालियर आ रहे हैं इसलिए कार्यकर्ताओं में जोश है। पंजाब के नेतृत्व परिवर्तन और उसका किसान आंदोलन पर असर के प्रश्न पर केंद्रीय मंत्री ने कहा कि कांग्रेस अंतरकलह की शिकार है। जिसका परिणाम राज्यों में दिखाई दे रहा हैं। कांग्रेस अब पूरी तरह अप्रासंगिक हो गई है।

ये भी पढ़ें – पूर्व मंत्री सज्जन सिंह वर्मा बड़ा बयान- सिंधिया को कोरोना फैलाने के लिए मिली परमिशन

कांग्रेस नेता और मध्यप्रदेश की कमलनाथ सरकार के पूर्व मंत्री सज्जन सिंह वर्मा द्वारा शिवराज सिंह चौहान को 15 दिन का मेहमान बताये जाने और प्रदेश में नेतृत्व परिवर्तन के दावे पर श्री तोमर ने कहा कि लोकतंत्र में सपने देखने की किसी को मना नहीं है। इस तरह की कोई बात नहीं है , शिवराज सिंह चौहान मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री हैं और उनके नेतृत्व में सरकार अच्छा काम कर रही है।

ये भी पढ़ें – अब भाजपा के हुए पूर्व केंद्रीय मंत्री माधव राव सिंधिया! पढ़िए पूरी खबर

सज्जन सिंह वर्मा के महंत नरेंद्र गिरि की हत्या में केंद्र सरकार के कुछ लोगों का हाथ होने के आरोप पर केंद्रीय मंत्री ने कहा कि इस तरह के आरोपों का जवाब देना समय व्यर्थ गंवाना है। उन्होंने कहा कि महंत नरेंद्र गिरि के निधन से हम सब स्तब्ध और दुखी हैं अभी ये निष्कर्ष नहीं निकला है कि ये हत्या है या आत्महत्या। उत्तरप्रदेश की सरकार इसपर इन्वेस्टिगेशन कर रही है। ऐसे में इस तरह की  बातें करना अच्छी बात नहीं हैं।