भोपाल।

राजधानी(rajdhani) मे 9 दिन की बच्ची के कोरोना पॉजिटिव(corona positive) आने के बाद हडकंप मच गया था क्योंकि इस बच्ची की ना तो मां कोरोना पॉजिटिव(positive) पाई गई और ना ही पिता कोरोना पॉजिटिव पाए गए। उसके बाद भी सुल्ताना जनाना अस्पताल में जन्मी यह महज 9 दिन की बच्ची इतनी गंभीर बीमारी से ग्रसित हो गई। लेकिन उससे भी हैरानी की बात यह है कि इस बच्ची के इलाज मे प्रशासन(admiistration) की तरफ से गंभीर लापरवाही बरती जा रही है।

आज इस बच्ची के पिता का एक वीडियो(video) सामने आया है जिसमें उन्होने चिरायु अस्पताल(chirayu hospital) प्रशासन पर लापरवाही के आरोप लगाए हैं। बच्ची के मां ने अस्पताल के अंदर से वीडियो बनाकर भेजे हैं। और उनमें साफ देखा जा सकता है कि बच्ची की मां को भी कोरोना पॉजिटिव मरीजों के बीच में रखा जा रहा है जबकि मां कोरोना से संक्रमित नहीं है। साथ ही बच्ची और उसकी माँ को अस्पताल(hospital) ने स्टोर रूम में रखा है।

दरअसल अस्पताल प्रबंधन ने स्टोर रूम को वार्ड बना कर माँ और कोरोना पॉजिटिव 9 दिन की बच्ची को वहां रखा हुआ है। जिस रूम में उन्हे रखा गया है वहां बाथरूम तक की सुविधा नहीं है। जिस कारण बच्ची की माँ को कोरोना पॉजिटिव वार्ड को पार कर वॉशरूम के लिए जाना पड़ता है। इसी के ही साथ वीडियो में देखा जा सकता है कि रूम में सही तरीके की साफ-सफाई भी नहीं है चारो तरफ धूल जालों का अम्बार है। और सही तरीके से खाना भी नहीं दिया जा रहा है। बच्ची के पिता ने वीडिय़ो के जरिए प्रशासन से गुजारिश की है कि वो माँ की सेहत को ध्यान में रखते हुए एक साफ सुथरा कमरा उन्हे दे।