शिवराज सिंह, नरोत्तम मिश्रा और कैलाश विजयवर्गीय को बड़ी जिम्मेदारी, सिंधिया बाहर

सिंधिया को अपनी अहमियत का आकलन करना चाहिए।सिंधिया का कद एक पार्षद से भी छोटा कर दिया गया है।इस सूची में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान का भी नाम है जो एक बार बंगाल जा चुके हैं

शिवराज सिंह

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। पश्चिम बंगाल में प्रथम चरण के चुनाव (West Bengal Assembly Elections)  के प्रचार के लिए भारतीय जनता पार्टी (BJP) ने अपने स्टार प्रचारकों (Election star campaigners) की घोषणा कर दी है। इस सूची में मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) से मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (Shivraj Singh Chauhan) ,राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय (Kailash Vijayvargiya) ,मध्य प्रदेश के गृह एवं जेल मंत्री डॉ नरोत्तम मिश्रा (Dr. Narottam Mishra), बीजेपी सांसद फग्गन सिंह कुलस्ते का नाम है।

यह भी पढ़े.. VC: किसानों को लेकर CM शिवराज सिंह के कड़े निर्देश, लापरवाह कर्मचारियों पर होगी FIR

खास बात ये है कि शिवराज सिंह समेत इन 40 सदस्यों की सूची में ज्योतिरादित्य सिंधिया(Jyotiraditya Scindia) का नाम नहीं है जो प्राय हर चुनाव में कांग्रेस (Congress) में रहते हुए स्टार प्रचारक हुआ करते थे।टॉप 40 की सूची में सिंधिया का नाम नहीं होने पर पूर्व मंत्री सज्जन सिंह वर्मा ने चुटकी ली है।उन्होंने कहा है कि बीजेपी में आकर सिंधिया की जो स्थिति हो रही है,उसे लेकर राहुल गांधी (Rahul Gandhi) के दिल में दर्द है।

सिंधिया को अपनी अहमियत का आकलन करना चाहिए।सिंधिया का कद एक पार्षद से भी छोटा कर दिया गया है।इस सूची में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान का भी नाम है जो एक बार बंगाल जा चुके हैं और 2 मई दीदी गई के नारे के साथ ही उन्होंने ममता बनर्जी पर अटैक करते हुए बीजेपी की सरकार बनाने का दावा किया था।शिवराज के अब आगे भी कई दौरे होंगे और उनके दौरों के दौरान मध्यप्रदेश में उनकी सरकार द्वारा किए गए कार्यों को पश्चिम बंगाल में बताकर बीजेपी के लिए वोट  (Vote) मांगे जाएंगे।

यह भी पढ़े.. MP SCHOOL: मप्र के निजी स्कूलों को बड़ा झटका, विभाग ने जारी किए यह आदेश

कैलाश विजयवर्गीय पिछले काफी लंबे समय से पश्चिम बंगाल (West Bengal) के प्रभारी हैं और उन्हीं के कुशल नेतृत्व के चलते बीजेपी का जनाधार तेजी के साथ पश्चिम बंगाल में बढा है।पिछली लोकसभा चुनाव में बीजेपी को मिली सीटों के चलते ही इस बार बीजेपी सरकार (BJP Government) बनाने को लेकर काफी उत्साहित है और कैलाश विजयवर्गीय इसके लिए जी तोड़ मेहनत कर रहे हैं।

इसके अलावा मध्य प्रदेश के गृह एवं जेल मंत्री डॉ नरोत्तम मिश्रा भी लगातार पश्चिम बंगाल के दौरे कर रहे हैं और जन सभाओं के माध्यम से बीजेपी की नीतियों को जनता तक पहुंचाने की कोशिश कर रहे हैं।नरोत्तम ने अपनी कई जनसभाओं में सीधे ममता सरकार पर प्रहार किए हैं और साफ तौर पर बताया है कि किस तरह से ममता बनर्जी ( West Bengal CM Mamta Banerjee) के कुशासन के चलते पश्चिम बंगाल की हालत खराब हो गई है।

लिस्ट में ये नाम भी शामिल

केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी, स्मृति ईरानी, मणिपुर के सीएम एन बीरेन सिंह, अरुणाचल प्रदेश के सीएम पेमा खांडू, भाजपा उपाध्यक्ष और असम में पार्टी प्रभारी बैजयंत पांडा, चुनाव प्रभारी नरेंद्र सिंह तोमर और सह-प्रभारी जितेंद्र सिंह, भोजपुरी अभिनेता और भाजपा नेता मनोज तिवारी और रवि किसान। बंगाल की लिस्ट में मिथुन चक्रवर्ती।