अच्छी खबर: सरकार दे रही सस्ते में Gold खरीदने का मौका, जानिए क्या रहेगा रेट

इसे आप ऐसे समझ सकते हैं कि यदि बॉन्ड पांच ग्राम सोने का है तो तो पांच ग्राम सोने की जितनी कीमत होगी उतनी हो बॉन्ड की कीमत होगी।

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट।  सोने (Gold) में निवेश करने वाले लोगों के लिए एक बड़ी खुशखबरी है, सरकार उन्हें सस्ते में सोना खरीदने (Gold Purchese) का ऑफर देने जा रही है।  ये ऑफर सोमवार 12 जुलाई से शुरू होगा लेकिन ध्यान रहे ऑफर केवल 16 जुलाई तक ही रहेगा।  यदि आप सोने खरीदने (Gold Purchese) की इच्छा रखते हैं तो 12 जुलाई से 16 जुलाई तक चलने वाली सरकार की इस स्कीम का फायदा जरूर उठायें।

दरअसल 12 जुलाई से 16 जुलाई तक सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड स्कीम 2021 -22 की चौथी सीरीज (Sovereign Gold Bond Scheme 2021 – 2022 IV Series) की बिक्री शुरू हो रही है ये बिक्री 16 जुलाई तक चलेगी। रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया (RBI) की प्रेस विज्ञप्ति के मुताबिक सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड की इस स्कीम (Sovereign Gold Bond Scheme) में प्रति ग्राम गोल्ड की कीमत 4,807 रुपये रखी है। ये कीमत इंडिया बुलियंस एन्ड ज्वेलर्स एसोसिएशन लिमिटेड (IBJA) द्वारा दी गई 999 शुद्धता वाले गोल्ड के पिछले सप्ताह के अंतिम तीन दिन 7 जुलाई, 8 जुलाई और 9 जुलाई के एवरेज क्लोजिंग रेट के आधार पर तय किया गया है।

यहाँ उपलब्ध होंगे सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड

रिसर्व बैंक ऑफ इंडिया, भारत सरकार की तरफ से सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड (Sovereign Gold Bond) जारी करता है।  सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड (Sovereign Gold Bond) सभी बैंकों, पोस्ट ऑफिस, मान्यता प्राप्त स्टॉक एक्सचेंजों NSE, BSE और स्टॉक होल्डिंग कॉर्पोरेशन ऑफ़ इंडिया लिमिटेड के माध्यम से बेचे जा सकेंगे।

ये भी पढ़ें – MP News: Jyotiraditya Scindia से इस बड़ी मांग की तयारी में KP

बॉन्ड की ऑनलाइन खरीदी पर मिलेगी छूट 

रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया  (RBI) ने सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड (Sovereign Gold Bond) की इस स्कीम में प्रति ग्राम गोल्ड की कीमत 4,807 रुपये रखी है लेकिन इसकी ऑनलाइन (Online) खरीद पर छूट भी दी जा रही है।  रिजर्व बैंक ऑफ इंड़िया के मुताबिक जो निवेशक ऑनलाइन यानि डिजिटल पेमेंट के आधार पर  सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड  (Sovereign Gold Bond)  खरीदने के लिए आवेदन करेंगे उन्हें 50 रुपये प्रति ग्राम की अतिरिक्त छूट मिलेगी यानी उनके लिए सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड (Sovereign Gold Bond)  की कीमत 4,807 की जगह 4,757 होगी।

ये भी पढ़ें – India vs Srilanka Series: भारत-श्रीलंका मैच पर कोरोना की नजर, स्थगित, जाने नया Schedule

निवेश करने की इतनी है लिमिट

सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड स्कीम (Sovereign Gold Bond Scheme) में कोई भी निवेशक एक वित्तीय वर्ष में न्यूनतम एक ग्राम और अधिकतम 4 किलोग्राम सोने के बॉन्ड खरीद सकता हैं । इसके अलावा ट्रस्ट या उसके जैसी संस्थाएं 20 किलोग्राम के सोने के बॉन्ड खरीद सकती हैं।

ये भी पढ़ें – Covid 19 : अब डेल्टा प्लस के बाद मंडराया ‘Kappa variant’ का खतरा!

जानिए क्या होता है सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड

भारत सरकार ने सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड स्कीम (Sovereign Gold Bond Scheme) 2015 में शुरू की थी, इस बॉन्ड को रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया भारत सरकार की तरफ से जारी करता है।  ये एक सरकारी बॉन्ड होता है इसे डीमेट रूप में परिवर्तित कराया जा सकता है इसका मूल्य रुपये में नहीं होता बल्कि सोने के वजन में होता है।  इसे आप ऐसे समझ सकते हैं कि यदि बॉन्ड पांच ग्राम सोने का है तो तो पांच ग्राम सोने की जितनी कीमत होगी उतनी हो बॉन्ड की कीमत होगी।

सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड के ये हैं फायदे 

सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड  (Sovereign Gold Bond) सरकार की तरफ से निवेशकों को बेचे जाने वाला भरोसेमंद बॉन्ड है इसमें डिफ़ॉल्ट का जोखिम नहीं होता है। इसकी कीमत 24 कैरेट प्योर गोल्ड के आधार पर तय होती हैं। इसका मैच्योरिटी पीरियड 8 साल होता हैं लेकिन 5 साल बाद बेचा जा सकता है। मैच्योरिटी पर सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड टैक्स फ्री होता है।  इसके अगेंस्ट लोन की सुविधा भी होती है।  सबसे बड़ी बात ये है कि सोने को फिजिकली रखना बहुत रिस्की होता है लेकिन सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड के माध्यम से सोना आसानी से रखा जा सकता है।