आज खुल गया Mankind Pharma का IPO, 4326 करोड़ है इश्यू साइज, निवेश से पहले जान लें ये जरूरी बातें

Mankind Pharma IPO : ग्रे मार्केट में मैनकाइन्ड फार्मा लिमिटेड के आईपीओ की एंट्री हो चुकी है। यदि आप शेयर मार्केट में निवेश कर मुनाफा कमाने की इच्छा रखते हैं तो यह खबर आपके काम आ सकती है।कंपनी ने कुल 40,058,844 शेयरों को ऑफर फॉर सेल के तहत जारी किया है और ऑफरिंग के जरिए कंपनी के शेयर होल्डर्स 4326.36 करोड़ रुपये का फंड जुटाने का लक्ष्य रखती है।

कंपनी ने आईपीओ को खोलने से पहले ही एंकर निवेशकों से 1,297 करोड़ रुपये जुटा लिये हैं। प्रमुख एंकर निवेशक जीआईसी, सीपीपी इनवेस्टमेंट बोर्ड, आबूधाबी इनवेस्टमेंट ऑथोरिटी, ब्लैकरॉक और गोल्डमैन सैक्स हैं। साथ ही कई घरेलू म्यूचुअल फंडों ने भी आईपीओ में निवेश किया है।

निवेशक 25 अप्रैल से लेकर 27 अप्रैल तक आईपीओ में दांव लगा पाएंगे। 8 मई, 2023 को शेयरों की लिस्टिंग हो सकती है। ऑफरिंग का लॉट साइज़ 13 शेयर्स हैं। फेस वैल्यू 1 रुपये प्रति शेयर हैं और प्राइस बैंड 1026 रुपये से लेकर 1080 रुपये प्रति शेयर है। इनिशियनल पब्लिक ऑफरिंग के प्रोमोटर्स की प्री-इश्यू शेयर होल्डिंग 79.00% है, वहीं पोस्ट इश्यू शेयर होल्डिंग 76.50% है। निवेशकों को न्यूनतम 14040 रुपये का निवेश करना होगा।

OFS में शयरों की बिक्री करने वाले प्रोमोटरों के नाम राजीव जुनेजा, रमेश जुनेजा और शीतल अरोड़ा है। साथ ही Beige Lltd, लिंक इनवेस्टमेंट ट्रस्ट और Cairnhill CGPE भी इस लिस्ट में शामिल हैं। क्योंकि आईपीओ ऑफर फॉर सेल के लिए है, इसलिए कंपनी को कोई रकम नहीं मिलेगी। सारा फंड शेयरोंहोल्डर्स को मिलेगा।

मैनकाइन्ड फार्मा लिमिटेड की स्थापना वर्ष 1995 में रमेश जुनेजा द्वारा हुई थी। कंपनी प्रेग्नेंसी टेस्ट किट्स “Prega News”, मैनफोर्स कॉन्डोम और अन्य प्रोडक्ट्स का करोबार करती है।जिसके कुल 36 ब्रांड्स मार्केट में उपलब्ध हैं।

(Disclaimer: इस लेख का उद्देश्य केवल जानकारी साझा करना है। MP News शेयर मार्केट या आईपीओ में निवेश करने की सलाह नहीं देता है)


About Author
Manisha Kumari Pandey

Manisha Kumari Pandey

पत्रकारिता जनकल्याण का माध्यम है। एक पत्रकार का काम नई जानकारी को उजागर करना और उस जानकारी को एक संदर्भ में रखना है। ताकि उस जानकारी का इस्तेमाल मानव की स्थिति को सुधारने में हो सकें। देश और दुनिया धीरे–धीरे बदल रही है। आधुनिक जनसंपर्क का विस्तार भी हो रहा है। लेकिन एक पत्रकार का किरदार वैसा ही जैसे आजादी के पहले था। समाज के मुद्दों को समाज तक पहुंचाना। स्वयं के लाभ को न देख सेवा को प्राथमिकता देना यही पत्रकारिता है। अच्छी पत्रकारिता बेहतर दुनिया बनाने की क्षमता रखती है। इसलिए भारतीय संविधान में पत्रकारिता को चौथा स्तंभ बताया गया है। हेनरी ल्यूस ने कहा है, " प्रकाशन एक व्यवसाय है, लेकिन पत्रकारिता कभी व्यवसाय नहीं थी और आज भी नहीं है और न ही यह कोई पेशा है।" पत्रकारिता समाजसेवा है और मुझे गर्व है कि "मैं एक पत्रकार हूं।"

Other Latest News