Mobile tariff Hike: जुलाई माह से बढ़ने वाला है मोबाइल का खर्च, जाने वजह

जियो, एयरटेल और आईडिया तीनो ने कहा है कि वह अगर दाम नहीं बढ़ाएगी तो क्वालिटी पर असर होगा। पिछले बार बढ़ोतरी के बाद से दामों में बहुत ज्यादा उछाल आ गया है। यह बढ़ोतरी 20 से 25% के दर से हो सकती है।

नई दिल्ली, डेस्क रिपोर्ट। टेलीकॉम ऑपरेटर भारती एयरटेल ने बुधवार को कहा कि उसे पांच साल में प्रति उपयोगकर्ता औसत 300 रुपये तक बढ़ेगा। जबकि इस साल लंबित अगली टैरिफ बढ़ोतरी से कंपनी को 200 रुपये हर यूजर्स प्राप्त होगी। भारती एयरटेल इंडिया और दक्षिण एशिया के एमडी और सीईओ गोपाल विट्टल ने एक निवेशक कॉल के दौरान कहा कि कंपनी 4 जी ग्राहकों के पोस्टपेड ग्राहक आधार 20 करोड़ का आंकड़ा पार कर गया है।

यह भी पढ़ें – जरूरत के हिसाब से खाना कम खा रहे? तो यह 5 लक्षण बता देते हैं सच्चाई

गोपाल विट्टल ने कहा कि मेरी समझ कहती है कि टैरिफ में वृद्धि शुरू कर देना चाहिए। एयरटेल का एआरपीयू, सभी दूरसंचार कंपनियों के लिए एक प्रमुख मीट्रिक, तिमाही के लिए 178 रुपये पर आया है, जो मार्च 2021 की तिमाही में 145 रुपये से ऊपर है। टेलीकॉम कंपनियां पिछले दो साल से मोबाइल कॉल और डेटा की कीमतें बढ़ा रही हैं।

यह भी पढ़ें – भारत की बेस्ट सेलिंग वैन, 11 साल बाद अपने नए अवतार में कर रही वापसी

तीनों निजी कंपनियों ने नवंबर-दिसंबर 2021 की अवधि में मोबाइल प्लान की कीमतों में 18-25 फीसदी की बढ़ोतरी की थी। विट्टल ने कहा कि चिप की कमी के कारण एंट्री-लेवल स्मार्टफोन की कीमत 7,000 रुपये से बढ़कर लगभग 10,000 रुपये हो गई, जिससे मोबाइल फोन अपग्रेडेशन में बाधा आई है। “मेरा मानना ​​​​है कि यह एक अस्थायी घटना है और इसका कारण यह है कि लोग एक नए सामान्य के अभ्यस्त हो जाते हैं।

यह भी पढ़ें – बुखार में इन चीजों का सेवन कतई ना करें, वरना और बिगड़ जाएगी तबीयत

भारत में एयरटेल का मोबाइल ग्राहक आधार साल-दर-साल आधार पर केवल 1.5 प्रतिशत बढ़कर मार्च 2022 तिमाही में 32.6 करोड़ हो गया, जो एक साल पहले 32.1 करोड़ था। अगले पांच वर्षों के लिए एयरटेल के दृष्टिकोण पर एक सवाल के जवाब में, विट्टल ने कहा कि कंपनी का गैर-गतिशीलता व्यवसाय उस अवधि तक बड़ा हो जाना चाहिए जिसमें बी 2 बी व्यवसाय और ब्रॉडबैंड व्यवसाय शामिल हैं।

यह भी पढ़ें – आरोपी को हथकड़ी लगाकर कोर्ट में किया पेश, कोर्ट ने पुलिस को लगाई फटकार

जियो, एयरटेल और आईडिया तीनो ने कहा है कि वह अगर दाम नहीं बढ़ाएगी तो क्वालिटी पर असर होगा। पिछले बार बढ़ोतरी के बाद से दामों में बहुत ज्यादा उछाल आ गया है। यह बढ़ोतरी 20 से 25% के दर से हो सकती है।