New Rules: 1 जून से होंगे 5 बड़े बदलाव, लागू होंगे कई नए नियम, आमजन के जेब पर पड़ेगा असर, पढ़ें पूरी खबर

New Rules From 1st June:

New Rules From 1st June: मई महीने की शुरुआत में केवल एक हफ्ते ही बचे हैं। अगले महीने कई बड़े बदलाव (होने जा रहे हैं। जिसका असर आम आदमी पर भी पड़ेगा। ट्रैफिक, ड्राइविंग लाइसेंस, गैस सिलेंडर और बैंकिंग से जुड़े नए नियम लागू होने वाले हैं। इन नए नियमों से किसी को फायदा होगा तो झटका भी लग सकता है।

एलपीजी गैस सिलेंडर के कीमतों में बदलाव

हर महीने की पहली तारीख को एलपीजी गैस सिलेंडर के कीमतों में बदलाव होता है। 1 जून को तेल कंपनियां एलपीजी गैस सिलेंडर की नई कीमतों निर्धारित करेंगी। बता दें कि 1 मई को 19 किलोग्राम वाले कमर्शियल एलपीजी सिलेंडरों के दाम में 19 रुपए की कटौती की गई थी।

ट्रैफिक से जुड़े नए नियम

1 जून से परिवहन से संबंधित नियमों में भी बड़ा बदलाव होने जा रहा है। तेज स्पीड में गाड़ी चलाने पर 1000 रुपए से लेकर 2000 रुपए तक का लग सकता है। बिना लाइसेंस गाड़ी चलाने पर 500 रुपये का भरना होगा। हेलमेट और सीट बेल्ट न पहनने वालों को 100-100 रुपए का जुर्माना भरना होगा।

DL के लिए नहीं पड़ेगी RTO जाने की जरूरत

ड्राइविंग लाइसेंस से जुड़े नए नियम में भी 1 जून से लागू होंगे। नए नियमों के तहत अब ड्राइविंग लाइसेंस बनवाने के लिए व्यक्ति को आरटीओ ऑफिस के चक्कर नहीं लगाने होंगे। सरकार उन संस्थाओं को भी सर्टिफिकेट प्रदान करेगी, जो ड्राइविंग सिखाते हैं। ऐसे में आरटीओ जाकर टेस्ट देने की जरूरत नहीं पड़ेगी।

नाबालिग के लिए सख्त होंगे ट्रैफिक नियम

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक नाबालिगों के लिए यातायात नियम सख्त हो सकते हैं। 25 वर्ष से कम उम्र वालों को ड्राइविंग लाइसेंस नहीं मिलेगा। यदि 18 साल से कम उम्र के लोग वाहन चलाते हुए पाए जाते हैं तो उन्हें 25,000 रुपये तक का जुर्माना भरना पड़ सकता है। इतना ही नहीं वाहन मालिक का ड्राइविंग लाइसेंस भी रद्द हो सकता है। बता दें कि ड्राइविंग लाइसेंस 18 वर्ष की उम्र होने पर ही जारी हो जाता है।

जून में 10 दिन बंद रहेंगे बैंक

रिजर्व बैंक ऑफ़ इंडिया ने जून महीने के लिए बैंक हॉलिडे की लिस्ट जारी कर दी है। अगले महीने 10 दिन बैंकों की छुट्टी रहेगी। साप्ताहिक अवकाश के कारण 6 दिन बैंक बंद रहेंगे।


About Author
Manisha Kumari Pandey

Manisha Kumari Pandey

पत्रकारिता जनकल्याण का माध्यम है। एक पत्रकार का काम नई जानकारी को उजागर करना और उस जानकारी को एक संदर्भ में रखना है। ताकि उस जानकारी का इस्तेमाल मानव की स्थिति को सुधारने में हो सकें। देश और दुनिया धीरे–धीरे बदल रही है। आधुनिक जनसंपर्क का विस्तार भी हो रहा है। लेकिन एक पत्रकार का किरदार वैसा ही जैसे आजादी के पहले था। समाज के मुद्दों को समाज तक पहुंचाना। स्वयं के लाभ को न देख सेवा को प्राथमिकता देना यही पत्रकारिता है।अच्छी पत्रकारिता बेहतर दुनिया बनाने की क्षमता रखती है। इसलिए भारतीय संविधान में पत्रकारिता को चौथा स्तंभ बताया गया है। हेनरी ल्यूस ने कहा है, " प्रकाशन एक व्यवसाय है, लेकिन पत्रकारिता कभी व्यवसाय नहीं थी और आज भी नहीं है और न ही यह कोई पेशा है।" पत्रकारिता समाजसेवा है और मुझे गर्व है कि "मैं एक पत्रकार हूं।"