UPSC CAPF Result: यूपीएससी सीएपीएफ असिस्टेंट कमांडेंट भर्ती परीक्षा का फाइनल रिजल्ट जारी, 312 उम्मीदवार चयनित, ऐसे करें चेक

सीबीएसई सीएपीएफ असिस्टेंट कमांडेंट भर्ती परीक्षा का फाइनल रिजल्ट जारी हो चुका है। उम्मीदवार ऑफिशियल वेबसाइट पर जाकर रिजल्ट का पीडीएफ़ डाउनलोड कर सकते हैं।

Manisha Kumari Pandey
Published on -
upsc

UPSC CAPF Result 2023: संघ लोक सेवा आयोग ने सेंट्रल आर्म्ड पुलिस फोर्स परीक्षा असिस्टेंट कमांडेंट भर्ती परीक्षा का फाइनल रिजल्ट घोषित कर दिया है। 312 उम्मीदवारों का चयन हुआ है, जिनकी नियुक्ति जल्द की जाएगी। उम्मीदवार ऑफिशियल वेबसाइट https://upsc.gov.in/ पर जाकर टॉपर्स लिस्ट और परिणाम चेक कर सकते हैं उम्मीदवारों की नियुक्ति सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ़), सीआरपीएफ, आईटीबीपी और सीआईएसएफ में सहायक कमांडेंट पदों पर होगी।

कैटेगरी वाइज़ चयनित उम्मीदवारों की संख्या

यूपीएससी ने सीएपीएफ असिस्टेंट कमांडेंट के लिए कुल 359 पदों पर भर्ती निकाली थी। जिसके लिए 13 मई से लेकर 14 जून 2024 तक इंटरव्यू का आयोजन किया था। लेकिन 312 पदों पर ही नियुक्ति की जाएगी। जनरल कैटेगरी से 112, ईडब्ल्यूएस से 33, ओबीसी से 95, एससी से 47 और एसटी से 25 रिक्त पदों पर भर्ती की जाएगी। दिल्ली हाई कोर्ट के निर्देशानुसार 4 कैंडीडेट्स के परिणाम सीलबंद कवर में रखे गए हैं।

ऐसे डाउनलोड करें रिजल्ट 

सबसे पहले ऑफिशियल वेबसाइट https://upsc.gov.in/ पर जाएं। “What’s New” के लिंक पर जाएं और UPSC CAPF AC फाइनल रिजल्ट के लिंक पर क्लिक करें। रिजल्ट का पीडीएफ़ खुलेगा। अपना नाम और रोल नंबर चेक करें। बता दें कि घोषणा के बाद रिजल्ट 15 दिनों तक आधिकारिक वेबसाइट पर उपलब्ध रहेगा।

टॉप 10 अभ्यर्थियों की लिस्ट 

  • सुदेश सिंह
  • मनुकांश अग्रवाल
  • प्रगुन तिवारी
  • गजेरा फेमिन जयसुखभाई
  • फैज अहमद
  • मेघल कुमार
  • विशाल गोस्वामी
  • येलमामे कुणाल सोमनाथ
  • अंशुमन राज
  • सुमित नारायण

फाइनल रिजल्ट का पीडीएफ़

upsc capf 2023

About Author
Manisha Kumari Pandey

Manisha Kumari Pandey

पत्रकारिता जनकल्याण का माध्यम है। एक पत्रकार का काम नई जानकारी को उजागर करना और उस जानकारी को एक संदर्भ में रखना है। ताकि उस जानकारी का इस्तेमाल मानव की स्थिति को सुधारने में हो सकें। देश और दुनिया धीरे–धीरे बदल रही है। आधुनिक जनसंपर्क का विस्तार भी हो रहा है। लेकिन एक पत्रकार का किरदार वैसा ही जैसे आजादी के पहले था। समाज के मुद्दों को समाज तक पहुंचाना। स्वयं के लाभ को न देख सेवा को प्राथमिकता देना यही पत्रकारिता है। अच्छी पत्रकारिता बेहतर दुनिया बनाने की क्षमता रखती है। इसलिए भारतीय संविधान में पत्रकारिता को चौथा स्तंभ बताया गया है। हेनरी ल्यूस ने कहा है, " प्रकाशन एक व्यवसाय है, लेकिन पत्रकारिता कभी व्यवसाय नहीं थी और आज भी नहीं है और न ही यह कोई पेशा है।" पत्रकारिता समाजसेवा है और मुझे गर्व है कि "मैं एक पत्रकार हूं।"

Other Latest News