School Holiday 2024 : छात्रों के लिए राहत भरी खबर, ग्रीष्मकालीन अवकाश का ऐलान, शिक्षा विभाग आदेश जारी, इतने दिन बंद रहेंगे स्कूल

भीषण गर्मी और बच्चों के स्वास्थ्य को देखते हुए छत्तीसगढ़ स्कूल शिक्षा विभाग ने समय से पहले प्रदेश के सभी स्कूलों में 22 अप्रैल ग्रीष्मकालीन अवकाश घोषित कर दिया है। इस संबंध में आदेश भी जारी कर दिए गए है, हालांकि यह आदेश शिक्षकों पर लागू नहीं होगा।

Pooja Khodani
Published on -
school timing

School Holiday/Summer Vacation 2024 : छत्तीसगढ़ के स्कूली छात्रों के लिए राहत भरी खबर है। भीषण गर्मी और लू के प्रभाव को देखते हुए राज्य की विष्णुसाय सरकार ने ग्राीष्मकालीन अवकाश का ऐलान कर दिया है। इस संबंध में स्कूल शिक्षा विभाग ने आदेश जारी कर दिया है।हालांकि शिक्षकों को इसमें शामिल नहीं किया गया है, यानि शिक्षकों को स्कूल आना होगा।

छग में 22 अप्रैल से गर्मी की छुट्टियां 

  • आदेश के तहत छत्तीसगढ़ में 22 अप्रैल से 15 जून तक ग्रीष्मकालीन अवकाश रहेगा, इसका लाभ केवल छात्रों को मिलेगा, लेकिन यह आदेश शिक्षकों पर लागू नही होगा।यह आदेश प्रदेश के सभी सरकारी, प्राइवेट, अनुदान प्राप्त, गैर अनुदान प्राप्त स्कूलों के लिए तत्काल प्रभाव से लागू होगा।
  • बता दें कि राज्य सरकार के 11 अक्टूबर 2023 के आदेश के मुताबिक एक मई से 15 जून 2024 तक ग्रीष्मकालीन अवकाश निर्धारित था और 30 अप्रैल तक कक्षाएं संचालित की जानी थी, लेकिन बदलते मौसम, गर्मी  और बच्चों के स्वास्थ्य को देखते हुए आदेश में संशोधन किया गया है और 22 अप्रैल से स्कूल बंद करने के आदेश दिए गए है।

शिक्षकों पर लागू नही होगा आदेश

इधर, शिक्षकों को 1 मई से 15 जून तक अवकाश मिलेगा जिसमें कोई संसोधन नहीं किया गया है, ऐसे में शालेय शिक्षक संघ ने शिक्षकों को भी जल्द ग्रीष्म अवकाश प्रदान करने की मांग की है।साथ ही उन्होंने कहा है कि चुनाव कार्य आदेश का यथावत शिक्षक पालन करेंगे। बता दे कि मध्य प्रदेश में छात्रों के लिए  ग्रीष्मकालीन अवकाश एक मई से 15 जून तक और शिक्षकों के लिए एक मई से 31 मई तक दिया गया है।

Continue Reading

About Author
Pooja Khodani

Pooja Khodani

खबर वह होती है जिसे कोई दबाना चाहता है। बाकी सब विज्ञापन है। मकसद तय करना दम की बात है। मायने यह रखता है कि हम क्या छापते हैं और क्या नहीं छापते। "कलम भी हूँ और कलमकार भी हूँ। खबरों के छपने का आधार भी हूँ।। मैं इस व्यवस्था की भागीदार भी हूँ। इसे बदलने की एक तलबगार भी हूँ।। दिवानी ही नहीं हूँ, दिमागदार भी हूँ। झूठे पर प्रहार, सच्चे की यार भी हूं।।" (पत्रकारिता में 8 वर्षों से सक्रिय, इलेक्ट्रानिक से लेकर डिजिटल मीडिया तक का अनुभव, सीखने की लालसा के साथ राजनैतिक खबरों पर पैनी नजर)