बीजेपी विधायक ने चौपाई के माध्यम से मुख्यमंत्री को दी सलाह, कोरोना मे हो रही लूट पर लगाएं लगाम

भोपाल डेस्क रिपोर्ट। पिछले कुछ दिनों से विंध्य क्षेत्र की मांग को लेकर लगातार चर्चाओं में बनी रहे बीजेपी के विधायक नारायण त्रिपाठी ने मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान को पत्र लिखा है। पत्र लिखकर उन्होंने कोरोना इलाज मे निजी अस्पतालों द्वारा की जा रही लूट को लेकर दुख व्यक्त करते हुए इसे रोकने की मांग की है।

नरोत्तम मिश्रा बोले- अब TI को मिल सकेगा DSP का पदभार, राजपत्र में अधिसूचना प्रकाशित

सतना जिले के मैहर से विधायक नारायण त्रिपाठी ने पत्र की शुरुआत में ही रामचरितमानस की चौपाई का उदाहरण दिया है और लिखा है कि मेरी हर बात को, हर पत्र को बगावत के रूप में क्यों लिया जाता है? भाजपा के सामान्य कार्यकर्ता के रूप में मेरी यह जिम्मेदारी है कि मैं आपको वास्तविकता से अवगत कराऊ। “सचिव वैद्य गुरु तीन जो, प्रिय बोलई भय आस, राज धर्म तन तीन कर, होई बेगई नास।इस चौपाई का अर्थ है कि सचिव, वैद्य या गुरु अगर यह सोच कर खुश होते हैं कि राजा,मरीज या शिष्य उनकी बात से खुश होगा और असत्य बोलते हैं तो इससे राज्य का नाश हो जाता है। पत्र में त्रिपाठी ने आगे लिखा है कि कोरोना महामारी के इलाज के लिए निजी अस्पतालों में इलाज बहुत महंगा है और लोग मजबूरी में घर में या आस पास के अस्पताल में रहकर की आत्महत्या करने को मजबूर है। निजी अस्पतालों में जो सक्षम है, वही इलाज करा पा रहा है और उनके बिल लाखों में बन रहे हैं। शासन द्वारा निर्धारित कोविड दरों का पालन नहीं होकर चार पाच गुना तक राशि वसूल की जा रही है। कई गरीब परिवारों में पूरे सदस्य बीमार हैं और वे अपना महंगा इलाज नहीं करा सकते और गरीब सरकारी अस्पतालों में ही दम तोड़ने को मजबूर है।

शिवराज सिंह चौहान के कड़े निर्देश- सर्वे कर जहाँ कोरोना, उसे वहीं समाप्त कर दें

विधायक नारायण त्रिपाठी ने लिखा है कि आप संवेदनशील मुख्यमंत्री हैं। प्रदेश वासियों प्राण रक्षा हेतु बेहतर प्रयास करना आपकी जिम्मेदारी है। इसीलिए आपसे निवेदन है कि कोविड इलाज के नाम पर निजी अस्पतालो में भयंकर लूट का इलाज का शिकार हो रहे मरीजों को बचाने का एकमात्र उपाय है कि निजी अस्पतालों में भर्ती मरीजों के बिलों का भुगतान सरकारी दरों पर प्रदेश सरकार ही करें। इससे न केवल मरीजों को राहत मिलेगी बल्कि अस्पतालों की लूट पर भी लगाम लग सकेगी। मेरी विनती है कि आप कोरोना मरीजों के हित में निर्णय अवश्य लेंगे। इसके साथ ही निजी एम्बुलेन्सो को घर से अस्पताल एवं एक अस्पताल से दूसरे अस्पताल ले जाने के लिए निजी एंबुलेंस मालिकों द्वारा मनमाना किराया वसूला जा रहा है जिस पर भी रोक लगाना जरूरी है।

अशोकनगर : विधायक जज्जी ने कोरोना मरीजों से फुलवाए गुब्बारे, गाना गाकर लगाए ठहाके

भाजपा विधायक नारायण त्रिपाठी पहले भी मुख्यमंत्री की वर्चुअल बैठको को लेकर विरोध दर्ज कर चुके हैं और लिख चुके हैं कि वर्चुअल बैठकों के बजाय वास्तविक धरातल पर काम करने की जरूरत है। विंध्य प्रदेश को लेकर भी उनके बगावती तेवर सुर्खियों में रहे हैं।

बीजेपी विधायक ने चौपाई के माध्यम से मुख्यमंत्री को दी सलाह, कोरोना मे हो रही लूट पर लगाएं लगाम