सीएम शिवराज सिंह

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। मध्यप्रदेश (Madhya Pradesh) में कोरोना संक्रमण (corona infection) की रिकवरी रेट में वृद्धि और पॉजिटिविटी दर में गिरावट के बाद अनलॉक (unlock) की प्रक्रिया शुरू की गई थी। जिसमें धीरे-धीरे करके सभी जिलों को खोला जा रहा है। लॉकडाउन (lockdown) के दौरान कोविड-19 (COVID-19) की स्थिति को देखते हुए वैवाहिक आयोजनों में अभी तक 20 लोगों की उपस्तिथि मान्य थी, वहीं कोविड-19 मामलों में आई गिरावट को देखते हुए अब शादी समारोह में लोगों की संख्या बढ़ाकर 40 कर दी गई है। वहीं शादी में शामिल हो रहे लोग अपना कोरोना टेस्ट कराएंगे। यह फैसला आज क्राइसिस मैनेजमेंट की बैठक में सीएम शिवराज सिंह चौहान (Shivraj Singh Chauhan) द्वारा लिया गया है।

यह भी पढ़ें…वैक्सीनेशन ने पकड़ी रफ्तार, देश में अब तक 25 करोड़ से ज्यादा लगाए गए डोज़

नाइट कर्फ्यू रहेगा जारी
सीएम शिवराज ने प्रभारी मंत्रियों अधिकारियों और जिला प्रशासन के साथ बैठक की। जिसमें कई महत्वपूर्ण घोषणा की गई है। सीएम शिवराज ने कहा कि स्कूल, कॉलेज, स्विमिंग पूल, खेल, सांस्कृतिक गतिविधियाँ प्रतिबंधित रहेंगी। जिम खोलने पर विचार किया जाएगा। सीएम ने आगे कहा कि कोरोना संक्रमण को नियंत्रित रखते हुए कौनसी गतिविधियों को हमें प्रारम्भ करना है, उसपर विचार किया जाएगा। राजनीतिक गतिविधियाँ, सामाजिक गतिविधियाँ, जुलूस, जलसे अभी प्रतिबंधित रहेंगे। आप सभी के सुझाव के आधार पर एक गाइडलाइन 15 जून के पहले जारी करेंगे। नाइट कर्फ्यू जारी रहेगा।

अनाथ बच्चों जल्द बनेगी योजना
कोविड के अलावा अनाथ हुए बच्चो की चिंता सरकार करेगी। शिवराज ने कहा की कोरोना के अलावा भी जो अनाथ बच्चे हैं, उन्हें हम सड़कों पर नहीं छोड़ सकते ! सरकार समाज के साथ मिलकर ऐसे बच्चों की शिक्षा, आश्रय, आहार व जीवनयापन की सम्पूर्ण व्यवस्था करेगी। इसके लिए बहुत जल्द एक योजना बनाई जाएगी। कोरोना के अलावा अन्य कारणों से भी अनाथ हुए बच्चों को हम भटकने के लिए नहीं छोड़ सकते हैं। समाज के साथ मिलकर सरकार ऐसे बच्चों की शिक्षा, आश्रय, आहार और जीवन यापन की सम्पूर्ण व्यवस्था करेगी। इसके लिए हम एक योजना बना रहे हैं।