शिक्षकों के लिए बड़ी खबर, वेतन में होगी 10 फीसद की वृद्धि, शर्त निर्धारित, इन प्रक्रिया का करना होगा पालन

कर्मचारियों के वेतन में 10 फीसद (salary hike) की वृद्धि देखी जाएगी।

bhel employee bonus

रांची, डेस्क रिपोर्ट। राज्य के शिक्षकों के मानदेय (Employees-Teachers salary) में जल्द वृद्धि देखी जाएगी। इसके लिए आवेदन की प्रक्रिया पूरी कर ली गई है। आकलन परीक्षा के प्रावधान को स्पष्ट कर दिया गया है, परीक्षा के आयोजन की जिम्मेदारी एकेडमी काउंसिल (academic council) को सौंपी गई है। दिसंबर में होने वाली परीक्षा में सफल कर्मचारियों के मानदेय में 10 फीसद (honorarium hike) की वृद्धि देखी जाएगी। साथ ही उनके वेतन में भारी बढ़ोतरी होगी।

इससे पहले शिक्षक पात्रता परीक्षा मैं सफल होने वाले शिक्षकों के मानदेय में 50 फीसद की वृद्धि की गई थी जबकि शिक्षक पात्रता परीक्षा में सफल नहीं होने वाले पारा शिक्षकों के मानदेय में 40 फीसद की बढ़ोतरी देखने को मिली थी। अब आकलन परीक्षा में सफल होने वाले वैसे उम्मीदवारों की 10 फीसद मानदेय वृद्धि का लाभ दिया जाएगा। पारा शिक्षकों के लिए आकलन परीक्षा में शामिल होना अनिवार्य है।

Read More : Ration Card : राशन कार्ड धारकों के लिए सरकार का बड़ा फैसला, त्योहार में मिलेगा गिफ्ट, हितग्राही होंगे लाभान्वित

जिन पारा शिक्षकों ने 3 वर्ष की सेवा पूरी की है। उन्हें परीक्षा में शामिल होना होगा। परीक्षा में शामिल नहीं होने पर उनके एक अफसर को नगण्य माना जाएगा। वैसे ही परीक्षा पास करने के लिए एक शिक्षक को अधिकतम 4 अवसर मिलेंगे। आकलन परीक्षा पास नहीं करने वाले शिक्षकों के मानदेय में वृद्धि नहीं की जाएगी।

बता दें कि आकलन परीक्षा के लिए परीक्षा शुल्क की राशि 10 अक्टूबर तक जमा करना अनिवार्य होगा। वहीं परीक्षा शुल्क की राशि 10 अक्टूबर तक जमा करना अनिवार्य होगा। SC-ST व्यांगजन के लिए जा परीक्षा शुल्क 500 निर्धारित किया गया। वहीं अन्य अभ्यर्थियों के लिए राशि 750 रूपए तय की गई है।

इसके लिए परीक्षा दो लेवल में निर्धारित की जाएगी पहले लेवल में कक्षा 1 से 5 तक के अभ्यर्थियों का परीक्षा आयोजित किया जाएगा जबकि लेवल 2 के तहत कक्षा 6 से 8 तक के परीक्षार्थियों की परीक्षा आयोजित की जाएगी।

परीक्षा की तिथि बाद में प्रकाशित की जाएगी। दिसंबर में होने वाली परीक्षा में चयनित शिक्षकों की सेवा शर्त नियमावली के अनुसार उनके मानदेय में 10 फीसद की वृद्धि होगी। वही इस परीक्षा में वैसे शिक्षक शामिल होंगे जो शिक्षक पात्रता परीक्षा में सफल नहीं हुए हैं।