UGC की बड़ी तैयारी, अब होगा सिंगल एंट्रेंस एग्जाम, मेडिकल-इंजीनियरिंग के छात्रों को मिलेगा लाभ, जानें अपडेट

चर्चा के मुताबिक शिक्षा नियामक संस्था यूजीसी द्वारा अलग-अलग विशेषज्ञों के साथ ही सही विचार विमर्श करने के लिए कमेटी तैयार की जा रही है।

नई दिल्ली, डेस्क रिपोर्ट। यूजीसी (UGC) एक बार फिर से महत्वपूर्ण करने की तैयारी में है। दरअसल विश्वविद्यालय अनुदान आयोग (University Grants Commission) द्वारा इंजीनियरिंग (Engineering) और मेडिकल प्रवेश परीक्षा स्नातक को CUET UG को एकीकृत (Single entrance) करने का प्रस्ताव तैयार किया जा रहा है। इस मामले में यूजीसी अध्यक्ष का बड़ा बयान सामने आया है। यूजीसी अध्यक्ष एम जगदीश कुमार ने बताया कि इसके लिए प्रस्ताव पर काम किया जा रहा है।

प्रस्ताव के अनुसार तीन प्रवेश परीक्षा में 4 विषय गणित, भौतिकी, रसायन विज्ञान और जीव विज्ञान को शामिल करने के अलावा छात्र परीक्षा दे सकेंगे और अध्ययन के विभिन्न क्षेत्रों के लिए पात्र हो जाएंगे। दरअसल विश्वविद्यालय अनुदान आयोग द्वारा योजना के मसौदे पर काम तैयार किए जा रहे। जिसमें इंजीनियरिंग और मेडिकल प्रवेश परीक्षा को कॉमन यूनिवर्सिटी एंट्रेंस टेस्ट-अंडर ग्रैजुएट के तहत लाया जाएगा। छात्र 3 प्रवेश परीक्षा देने के बजाय केवल एक प्रवेश प्रवेश देने के साथ ही विभिन्न विषयों की पढ़ाई करने के लिए सक्षम हो जाएंगे।

Read More :Shehdol Lokayukt Action : लोकायुक्त का बड़ा एक्शन, अकाउंटेंट को 5000 रूपए की रिश्वत के साथ रंगे हाथों दबोचा, कार्रवाई जारी

चर्चा के मुताबिक शिक्षा नियामक संस्था यूजीसी द्वारा अलग-अलग विशेषज्ञों के साथ ही सही विचार विमर्श करने के लिए कमेटी तैयार की जा रही है। इस मामले में यूजीसी अध्यक्ष जगदीश कुमार ने कहा कि प्रस्ताव है कि सभी प्रवेश परीक्षा को एक साथ संयुक्त कर दिया जाए। जिससे छात्रों को एक ही ज्ञान आधारित कई प्रवेश परीक्षा में शामिल ना होना पड़े। इसके साथ ही साथ एक प्रवेश परीक्षा देने के साथ ही विभिन्न क्षेत्रों में प्रवेश के लिए पात्र माने जाए।

नए प्रस्ताव के मुताबिक देश के तीन बड़ी परीक्षा इंजीनियरिंग प्रवेश संयुक्त प्रवेश परीक्षा मुख्य, मेडिकल प्रवेश राष्ट्रीय पात्रता से प्रवेश परीक्षा स्नातक और CUET UG में करीब 43 लाख छात्र शामिल होते हैं। ऐसे में माना जा रहा है कि मेडिकल और इंजीनियरिंग के लिए भी एक ही एंट्रेंस टेस्ट के जरिए प्रवेश देने की तैयारी की जा रही है। CUET UG परीक्षा में यदि JEE-NEET को विलय किया जाता है तो छात्र एक प्रवेश परीक्षा के जरिए कई जगह पर प्रवेश के लिए पात्र हो जाएंगे। NEET JEE में भौतिकी, रसायन विज्ञान व गणित के विषय शामिल रहते हैं जबकि CUET UG के लिए 61 डोमेन विषयों को शामिल किया जाता है।

वही नवीन प्रस्ताव पर कहा गया है कि Single Entrance का उद्देश्य सिर्फ छात्रों को परीक्षा में होने वाले तनाव से बचाना है। सेम सेट की परीक्षा होने के बाद भी आमतौर पर छात्रों को एक साथ विभिन्न परीक्षा में शामिल होना पड़ता है। ऐसे में कुछ ऐसे मेडिकल इंजीनियरिंग में जाना पसंद करते हैं जबकि अन्य सामान शिक्षा में शामिल होना चाहते हैं। इसके लिए सभी विषयों की एक परीक्षा CUET-UG के जरिए प्रवेश के लिए शामिल की जा सकती है।

फिलहाल एकीकृत परीक्षा के प्रस्ताव पर स्टॉकहोल्डर के साथ विचार विमर्श के माध्यम से आम सहमति बनने पर विचार किया जा रहा है। इसके बाद वर्ष में दो बार परीक्षा में शामिल होने के अवसर प्रदान करने की अनुमति दी जा सकती है। वही प्लान के अनुसार पहले बोर्ड परीक्षा के बाद और दूसरा दिसंबर में परीक्षा का आयोजन संभव किया जाएगा।