सिंधिया के स्वागत में सजा शहर, तेजी से भरे जा रहे गड्ढे, एक दर्जन मंत्री करेंगे अगवानी

ग्वालियर, अतुल सक्सेना।  केंद्रीय मंत्री बनने के बाद पहली बार ग्वालियर आ रहे ज्योतिरादित्य सिंधिया (Jyotiraditya Scindia) के स्वागत के लिए ग्वालियर शहर सजधजकर (Scindia Welcome) तैयार है। भारतीय जनता पार्टी (BJP) शहर और ग्रामीण क्षेत्रों में व्यापक तैयारियां कर रहे हैं।  शहर को होर्डिंग, पोस्टर, बैनर से पाट दिया है। जिन सड़कों से सिंधिया का रथ गुजरेगा उस क्षेत्र की सड़के चौराहे स्वागत द्वार से सजे हैं। प्रदेश सरकार के तीन मंत्री पिछले तीन  तैयारियों को देख रहे हैं। उन्होंने जिले के प्रशासनिक अधिकारियों से व्यवस्थाएं चाक चौबंद रखने के निर्देश दिए हैं। जिन रास्तों से सिंधिया का काफिला गुजरेगा उनके गड्ढे तेज गति से भरे जा रहे हैं।  उधर सिंधिया की अगवानी के लिए प्रदेश के करीब एक दर्जन मंत्री ग्वालियर में मौजूद रहेंगे उनके दौरे शुरू हो गए हैं।

केंद्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया  22 सितम्बर को तीन दिवसीय प्रवास पर ग्वालियर आ रहे हैं।  सिंधिया के स्वागत के लिए मुरैना से लेकर ग्वालियर तक बड़े पैमाने पर तैयारियां की जा रहीं हैं।  ग्वालियर के प्रभारी मंत्री तुलसीराम सिलावट, ऊर्जा मंत्री प्रद्युम्न सिंह तोमर , खाद्य एवं प्रसंस्करण राज्य मंत्री भारत सिंह कुशवाह पिछले तीन दिनों से भाजपा नेताओं और प्रशासनिक अधिकारियों के साथ बैठकर सिंधिया के स्वागत की तैयारियों को अंतिम रूप दे रहे हैं।  पार्टी कार्यकर्ताओं ने साथ बैठकर अलग अलग समिति प्रभारियों को निर्देश दिए गए हैं।

सिंधिया के स्वागत में सजा शहर, तेजी से भरे जा रहे गड्ढे, एक दर्जन मंत्री करेंगे अगवानी

सड़क पर उतरकर मंत्री देख रहे तैयारियाँ  

ऊर्जा मंत्री प्रद्युम्न सिंह तोमर मुरैना जाकर कार्यकर्ताओं में जोश भरकर और तैयारियों की समीक्षा कर आये है वे सिंधिया के स्वागत में शामिल होने के लिए घर घर दस्तक भी दे रहे हैं।  प्रभारी मंत्री तुलसीराम सिलावट ग्वालियर शहर में जमे हैं तो मंत्री भारत सिंह कुशवाह ग्रामीण क्षेत्र में सिंधिया की तयारी को अंतिम रूप दे रहे हैं।

मंत्रियों ने दिए प्रशासनिक अधिकारियों को निर्देश  

मुरार सर्किट हाउस ग्वालियर में सोमवार की रात प्रभारी मंत्री तुलसीराम सिलावट और ऊर्जा मंत्री प्रद्युम्न सिंह तोमर  ने तैयारियों की समीक्षा बैठक में अधिकारियों को निर्देश दिए कि केंद्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया के ग्वालियर प्रवास के दौरान शहर की यातायात व्यवस्था बेहतर होनी चाहिए तथा किसी भी शहर वासियों को यातायात से कोई समस्या नहीं होनी चाहिए। इसके साथ सड़के सुगम यातायात के लिए सड़कें बेहतर हो। सड़कों पर पेंच रिपेयरिंग आदि समय से पूर्ण कर ली जाए। इसके साथ ही केंद्रीय मंत्री श्री सिंधिया की निरावली से महाराज बाड़े तक जन समर्थन यात्रा के दौरान साफ सफाई पेयजल की व्यवस्था सहित अन्य आवश्यक व्यवस्थाएं समय से पूर्ण कर ली जावे। बैठक के दौरान संभाग आयुक्त आशीष सक्सेना, आईजी अविनाश शर्मा, कलेक्टर  कौशलेंद्र विक्रम सिंह, पुलिस अधीक्षक अमित सांघी, नगर निगम आयुक्त किशोर कान्याल, सीईओ जिला पंचायत आशीष तिवारी सहित अन्य प्रशासनिक अधिकारी मौजूद थे।

सिंधिया के स्वागत में सजा शहर, तेजी से भरे जा रहे गड्ढे, एक दर्जन मंत्री करेंगे अगवानी

तेजी से भरे जा रहे सड़कों के गड्ढे, 200 जगह स्वागत मंच  

मंत्रियों के निर्देश के बाद नगर निगम ने सिंधिया के काफिले के गुजरने वाली सड़कों के गड्ढो को भरने का काम तेज कर दिया है। इसका नतीजा ये है कि मंत्री ने निर्देशों, चेतावनी के बावजूद जो काम 15 समय में पूरा नहीं हो सका  वो कुछ घंटों में ही पूरा हो रहा है। उधर सिंधिया के स्वागत के लिए उत्साहित सिंधिया समर्थक और भाजपा कार्यकर्ता शहर को सिंधिया के होर्डिंग, पोस्टर, बैनर से सजा रहे है , जिसे जहाँ जगह मिल रही है वहां स्वागत का होर्डिंग पोस्टर बैनर लगा रहा है।  सिंधिया के स्वागत के लिए मंच भी तैयार होने लगे हैं।  करीब 200 स्थानों पर सिंधिया का स्वागत होगा।

सिंधिया के स्वागत में सजा शहर, तेजी से भरे जा रहे गड्ढे, एक दर्जन मंत्री करेंगे अगवानी

करीब एक दर्जन मंत्री करेंगे  सिंधिया की अगवानी 

केंद्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया के स्वागत के दौरान तीन मंत्री ग्वालियर के प्रभारी मंत्री तुलसीराम सिलावट, ऊर्जा मंत्री प्रद्युम्न सिंह तोमर , खाद्य एवं प्रसंस्करण राज्य मंत्री भारत सिंह कुशवाह ग्वालियर में पिछले तीन दिनों से हैं इनके अलावा परिवहन मंत्री गोविन्द सिंह राजपूत, स्वास्थ्य मंत्री डॉ प्रभुराम चौधरी, पंचायत एवं ग्रामीण विकास मंत्री महेंद्र सिंह सिसोदिया, मंत्री हरदीप सिंह डंग, मंत्री राजयवर्धन सिंह दत्तीगांव, मंत्री सुरेश राठखेड़ा, मंत्री ओपीएस भदौरिया सहित करीब एक दर्जन मंत्रियों के सिंधिया की अगवानी में शामिल होने की सूचना है।