सीएम शिवराज बोले-27% OBC आरक्षण बरकरार रखने क्या किया? जवाब दें कमलनाथ

सीएम शिवराज सिंह चौहान  ने कहा कि 10 मार्च को याचिका लगी और 19 मार्च को स्टे आ गया।

सीएम शिवराज सिंह चौहान
Shivraj Singh Chauhan

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) में ओबीसी आरक्षण (OBC reservation) को सड़क से लेकर सदन तक सियासत जारी है। एक तरफ आज जबलपुर हाईकोर्ट (Jabalpur High Court) में सुनवाई होना है वही दूसरी तरफ सीएम शिवराज सिंह चौहान का बड़ा बयान सामने आया है। सीएम शिवराज सिंह ने कमलनाथ से सवाल करते हुए पूछा है कि कमलनाथ जी जवाब दें कि 27% आरक्षण बरकरार रखने के लिए कांग्रेस ने क्या किया?

यह भी पढ़े.. आंदोलन की राह पर MP के 19 हजार पटवारी, आज से अनिश्चितकालीन हड़ताल पर, काम काज ठप

आज विधानसभा में मीडिया से चर्चा करते हुए मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (CM Shivraj Singh Chouhan)  ने कहा कि कांग्रेस पाखंड कर रही है, पिछड़ा वर्ग को कांग्रेस ने धोखा दिया है।कमलनाथ  (Kamal Nath) जी जवाब दें कि 27% आरक्षण बरकरार रखने के लिए कांग्रेस ने क्या किया?स्टे कराने का षड्यंत्र किया। कांग्रेस का पाखंड हम चलने नहीं देंगे, पिछड़ा वर्ग को आरक्षण देने में हम कोई कसर नहीं छोड़ेंगे।

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि कांग्रेस (MP Congress) भ्रम फैलाने की कोशिश कर रही है और समाज को तोड़ने के प्रयास में लगी है।कल आदिवासियों को लेकर भ्रम फैलाया और आज पिछड़े वर्ग को भ्रमित करने का कांग्रेस प्रयास कर रही है। 8 मार्च 2019 को 14 से 27 प्रतिशत आरक्षण लागू करने का तत्कालीन सरकार (Kamal Nath Government) ने वचन दिया था।

यह भी पढ़े.. कांग्रेस विधायक की धमकी- सत्ता में आए तो बाबू बनाकर रखूंगा, वीडियो वायरल

सीएम शिवराज सिंह चौहान  ने कहा कि 10 मार्च को याचिका लगी और 19 मार्च को स्टे आ गया। 10 से 19 तारीख तक तत्कालीन कमलनाथ सरकार ने अपना एडवोकेट जनरल तक कोर्ट में खड़ा नहीं किया। तत्कालीन सरकार ने अपने शासन के दौरान कोई प्रयास तक नहीं किया। कमलनाथ जी ने पिछड़े वर्ग की पीठ में छुरा घोंपा है।